कंधों से मिलते हैं कंधे Kandhon Se Milte Hain Kadhen Hindi Lyrics

Kandhon Se Milte Hain Kandhe song from Lakshya (2004) written by Javed Akhtar, music is composed by Shankar Eshaan Loy and sung by Shankar Mahadevan, Sonu Nigam, Hariharan, Roop Kumar Rathod, Kunal Ganjawala, Vijay Prakash.

The film starring Preity Zinta, Hrithik Roshan, Sharad Kapoor, Amitabh Bachchan, Aditya Srivastava, Om Puri, and Boman Irani.

Kandhon-Se-Milte-Hain-Kadhen-Hindi-Lyrics
 
Singer   Shankar Mahadevan, Sonu Nigam, Hariharan, Roop Kumar Rathod, Kunal Ganjawala, and Vijay Prakash
MusicJaved Akhtar
Lyrics  Shankar Eshaan Loy





कंधों से मिलते हैं कंधे Kandhon Se Milte Hain Kandhe Hindi Lyrics


कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं
हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं

कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं
हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं

अब तो हमें
आगे बढ़ते है रेहना
अब तो हमें
साथी है बस इतना ही कहना

अब तोह हमें
आगे बढ़ते हैं रहना
अब तोह हमें
साथी है बस इतना ही कहना

अब जो भी हो शोला बनके
पत्थर है पिघलाना
अब जो भी हो बादल बनके
परबत पर है छाना


कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं
हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं
कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं
हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं

निकले हैं मैदान में
हम जान हथेली पर ले कर
अब देखो दम लेंगे हम
जाके अपनी मंज़िल पर

खतरों से हस्के खेलना
इतनी तो हम में हिम्मत है
मोड़े कलाई मौत की
इतनी तो हम में ताक़त है

हम सरहदों के वास्ते लोहे की एक दीवार है
हम दुश्मनों के वास्ते होशियार है तैयार है

अब जो भी हो शोला बनके
पत्थर है पिघलाना
अब जो भी हो बादल बनके
परबत पर है छाना

कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं
हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं

जोश दिल में जगाते चलो
जीत के गीत गाते चलो
जोश दिल में जगाते चलो
जीत के गीत गाते चलो

जीत की जो तस्वीर बनाने
हम निकले हैं अपनी लहू से
हम को उस में रंग भरना है
साथी मैंने अपने दिल में अब ये ठान लिया है

या तो अब करना है
या तो अब मरना है

चाहें अंगारें बरसे के बिजली गिरे
तू अकेला नहीं होगा यारा मेरे
कोई मुश्किल हो या हो
कोई मोर्चा
साथ हर मोड़ पर
होंगे साथी तेरे

अब जो भी हो शोला बनके पत्थर है पिघलाना
अब जो भी हो बादल बनके परबत पर है छाना

कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं
हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं

इक चेहरा अक्सर मुझे याद आता है
इस दिल को चुपके चुपके वो तड़पाता है
जब घर से कोई भी खत आया है
कागज़ को मैंने भीगा भीगा पाया है
हो, पलकों पे यादों के कुछ दीप जैसे जलते हैं
कुछ सपने ऐसे हैं जो साथ साथ चलते हैं

कोई सपना न टूटे
कोई वादा न टूटे
तुम चाहो जिससे दिल से
वो तुमसे ना रूठे

अब जो भी हो शोला बनके पत्थर है पिघलाना
अब जो भी हो बादल बनके पर्बत पर है छाना

कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं
हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं

चलता है जो ये कारवाँ
गुंजी सी है ये वादियां
है ये ज़मीन (गुंजी गुंजी) ये आसमान (गूंजा गूंजा)
है ये हवा (गुंजी गुंजी) है ये समां (गूंजा गूंजा)

हर रस्ते ने हर वादी ने
हर पर्बत ने सदा दी
हम जीतेंगे हम जीतेंगे
हम जीतेंगे हर बाज़ी

कन्धों से मिलते हैं कंधे कदमों से कदम मिलते हैं
हम चलते हैं जब ऐसे तोह दिल दुश्मन के हिलते हैं x ४

More Hindi Lyrics of Patriotic Songs


Post a Comment

Previous Post Next Post