Anupama Ne Badhaya Kadam - Anupama 17th September 2021 Review and Written Updates EP370

Anupama 17th September 2021 - Today's Episode 370 Review and Written Update in Hindi

देविका ने बदला अनु का इरादा !!

देविका जैसी दोस्त सभी औरतो के पास होनी चाहिए। जो कमजोर पड़ने पर हमारा हौसला बढ़ा सके। 

देविका ने वही किया जिसकी बापूजी को पूरी उम्मीद थी। 

अनुपमा को सही और गलत का फर्क समझा कर उसे आगे बढ़ने के लिए तैयार किया। 

अपने लिए न सही पर उन औरतो का सोच जिनके पास उम्मीद की कोई किरण तक नहीं। कोई ये पूछने वाला नहीं की तुम क्या सोचती हो, क्या करना चाहती थी या कुछ बनना चाहती हो। 

ऐसी कितनी ही औरते अभी भी है हमारे देश में है जिनकी किस्मत अनुपमा का लिया एक फैसला बदल सकता है। 

देविका के जाने बाद इन् सारी बातों पर अनुपमा ने गौर किया और बदल डाला अपना इरादा।

Anupama Ne Badhaya Kadam - Anupama 17th September 2021 Review and Written Updates EP370

अनुपमा ने किये सवाल !!

अभी तक हमने यह देखा की कैसे सारे घर वाले अनुपमा पर मिल कर सवाल उठाते है ।  अनुपमा ने जितना ज़रूरी था उतना ही जवाब दिया क्योकि जिसने जैसा चश्मा लगाया होता है उसे दुनिया वैसी ही नज़र आती है।  

अब अनुपमा को भी समझ आ गया है की अगर घर में किसी को अनुज के साथ उसके काम करने पर प्रॉब्लम है तो ये उन लोगो की प्रॉब्लम है। 

इसिलए अनुपमा ने अपने फैसला सुनाने से पहले ही सबको मिठाई भी खिला दी। 

अनुपमा अब वनराज की पत्नी या बा की बहु नहीं है जो एक आवाज़ में डर के चुपचाप बैठ जाये। 

ये वो अनुपमा है जिसने अब 26  साल बाद जीना सीखा है। 

क्यों अनुपमा काम न करे अनुज के साथ ?
जब अनुपमा ने किया सवाल तो मिला नहीं सही जवाब।  क्योकि जब कोई बात बेतुकी होती है तो अक्सर जवाब कही खो जाते है। 

अनुपमा के इस सवाल का जवाब न तो बा ने दिया और न ही वो कभी दे पाएंगी। 

अनुपमा को मतलब है तो सिर्फ अपनी सोच से, अपने सपनो से, और अपनों से।  ये आज अनु से साफ़ साफ़ शब्दों में सबको समझा दिया।  
मुझे अभी तक यही लगता था की अनुपमा की कमियों की वजह से वनराज ने काव्या से रिश्ता जोड़ा और शादी तक कर ली।  
अब काव्या में क्या कमी है जिसकी वजह से या जिसका बहाना मार के वो अनुपमा के पीछे पड़ा है। 

काव्या ने भी सही सवाल किया था वनराज को की तुम इतना हाइपर क्यों हो रहे हो अनुपमा और अनुज के साथ में काम करने पर क्योकि अब अनुपमा तुम्हारी पत्नी नहीं है। 

जब काव्या अनुज के साथ सेल्फी ले रही थी, आगे जाके हाथ बढ़ा के अनुज से दोस्ती करने के लिए पागलपन और उतावलेपन पर उतर आई थी तब कहा गया था ये वनराज। 

अपनी करंट पत्नी पर चलती नहीं है और जिसके साथ रहने पे परेशानी थी उसी के पिछे मुँह उठाये पड़ा है। 

मुझे तब बहुत गुस्सा आ रहा था जब वो कहता है की वो अनुपमा को किसी भी हालत में उड़ने नहीं देगा उसको फैमिली का नाम लेके ब्लैकमेल करेगा और शायद यही सोच के तो वो तोषु का भी इस्तेमाल कर रहा है। 

इससे बड़ा खुदगर्ज़ इंसान नहीं होगा।
 

अनुज का इंतज़ार हुआ ख़तम !!

अनुज और उसके काका अनुपमा को पार्टनरशिप कॉन्ट्रैक्ट देने के साथ ही तब से है बेचैन की अनुपमा क्या रिप्लाई देगी हां करेगी या ना करेगी। 

वैसे तो अनुज बहुत समझदार इंसान है जो अनुपमा का हर सिचुएशन में साथ देना चाहता है।  पर उसको उम्मीद है अगर अनुपमा उसके साथ काम करने के लिए हां कर दे तो वो उसकी लाइफ में चल रही सारी परेशानिया ठीक कर देगा। 

अब क्योकि अनुपमा ने देविका के समझाने पर बदल लिया है अपना फैसला तो अनुज को जिस पल का इंतज़ार है वो आने वाला है।

अनुपमा ने वनराज को दिया चैलेंज !!

वनराज की हिम्मत बहुत है भाईसाहब। अनुपमा के इतना बोलने पर भी बेशर्मो की तरह अपनी और बेज़्ज़ती कराने पे उतारू है बंदा। 

अब तो अनुपमा नहीं रुकने वाली, आखिर अपनी लाइफ की हीरोइन है भाई।

उड़ान भी होगी , पर भी निकलेंगे और मज़िल भी मिलेगी। 
  


पढ़ने के लिए धन्यवाद्!

उमा धीमान 


Post a Comment

Previous Post Next Post