GHKKPM Written Update - Virat Ne Sai Se Baat Karne Se Kiya Inkaar EP - 309

गुम है किसी के प्यार में 28 सितंबर 2021 लिखित एपिसोड अपडेट - विराट ने साईं से बात करने से किया इनकार

GHKKPM-Written-Update-Virat-Ne-Sai-Se-Baat-Karne-Se-Kiya-Inkaar-EP-309

इमोशनल अश्विनी और साईं

एपिसोड की शुरुआत में अश्विनी से बात करते हुए साई इमोशनल हो जाती हैं। अश्विनी और साईं एक दूसरे को अपने हाथों से खाना खिलाते हैं। अश्विनी उससे पूछती है कि वह इन दिनों तनावग्रस्त क्यों दिख रही है?

वह अनुमान लगाती है कि वह विराट की वजह से परेशान है। साई चुप रहती हैं लेकिन रोते हैं। अश्विनी कहती है कि उसने उससे शिकायत क्यों नहीं की। साईं उसे बताती है कि विराट उससे थक गया है।

अश्विनी का कहना है कि निनाद भी उससे बदतमीजी से बात करता है, और अब विराट भी अनजाने में उसकी राह पर चल रहा है। साईं कहती हैं कि वह अगले दिन से यह सब रोक देंगी।

अश्विनी कहती हैं कि गणपतिजी उनकी सभी समस्याओं को दूर करेंगे। साईं सोचती है कि केवल अश्विनी ही उसके जाने से परेशान होगी।

अश्विनी रसोई में जाने से पहले साईं को गले लगा लेती है। वह कहती है कि वह असहज महसूस कर रही है। अश्विनी के जाने के बाद साईं उदास हो जाती है।

विराट ने साईं से बात करने से किया इनकार

विराट, देवी से कहता हैं कि साईं हमेशा सही नहीं हो सकती। देवी कहती है कि पुलकित हमेशा उसकी मदद करता है जब वह परेशान होती है, और उसे साई के साथ भी ऐसा ही करना चाहिए।

विराट कहता हैं कि इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि साईं को उससे कोई सरोकार नहीं है। उसका कहना है कि साईं को तब तक कोई नहीं रोक सकता जब तक वह खुद नहीं चाहती।

विराट कहता हैं कि वह साईं की जिद से थक चुका हैं, और वह उसे रहने के लिए भीख नहीं मांगेंगे। देवी कहती है कि वह उससे कभी बात नहीं करेगी।

तभी पाखी पूछती है कि देवी अपने भाई के बजाय साईं का समर्थन क्यों कर रही है? देवी बोलती है कि विराट अपनी बहन से ज्यादा पाखी को सुनता है।

देवी कहती है कि साईं की मदद करने से बेहतर है कि उससे बात करें।

विराटपूछता हैं किस तरह की मदद? देवी कहती है कि यह एक रहस्य है।

पाखी कहती है कि साईं ने देवी को उनके साथ हेरफेर करने के लिए भेजा होगा ताकि वह साई को रोक सके। पाखी बोलती है कि साई सिर्फ झांसा दे रहे हैं।

यह सुनते ही देवी, पाखी पर चिल्लाती है। पाखी के साथ बदसलूकी करने पर विराट, देवी को डांटा है। विराट उसे याद दिलाता है कि पाखी, सम्राट की पत्नी है। देवी उसे याद दिलाती है कि साईं उसकी पत्नी है। देवी बोलती है कि यह चव्हाण का पारिवारिक मामला है, इसलिए पाखी को इसमें हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।

ये सब होने के बाद देवी भावुक हो जाती हैं। विराट कहता हैं कि उसे नहीं पता कि उसके और साई के बीच क्या हुआ था। और तभी देवी रोती हुई वहां से चली जाती है।

विराट, देवी को परेशान करने के लिए साई को जिम्मेदार ठहराता हैं। पाखी सोचती है कि विराट जल्द ही एहसास होगा कि साई से शादी करना कितनी बड़ी गलती थी।

शिवानी और साई की आखरी मुलाकात

साई, शिवानी के कमरे में आती है। साईं उससे पूछती हैं कि वह पूजा के लिए क्या पहनना चाहती है? साई उसे चुनने में उसकी मदद करने आई है। साईं, शिवानी को हमेशा उसकी मदद करने के लिए धन्यवाद करती है। वह कहती है कि शिवानी बहुत अच्छी है, और उसे कभी नहीं बदलना चाहिए।

शिवानी कहती है कि वह इस तरह क्यों बात कर रही है। साई कहती हैं कि ऐसा कुछ नहीं है। शिवानी कहती है कि उसे भी ऐसे ही रहना चाहिए जैसे वह है।

पाखी का नया प्लान

सम्राट, पाखी से पूछता है कि वह कहाँ थी? वह कहती है कि वह देवी के साथ बालकनी पर थी। सम्राट पूछता है कि वह अगले दिन क्या पहनेगी, ताकि वह उसके साथ अपना नीला कुर्ता मैच कर सके।

पाखी बताती है कि सभी महिलाओं ने गुलाबी रंग पहनने का फैसला किया है। सम्राट कहता है कि वह इसके साथ एक नीला स्टोल ले जाएगा।

पाखी, सम्राट से पूछती है कि क्या वे पूजा के बाद महाबलेश्वर जा सकते हैं? सम्राट पूछता हैं कि महाबलेश्वर क्यों?

पाखी सोचती है कि ऐसा इसलिए है क्योंकि विराट ने साई को वहां सरप्राइज के लिए ले गया था और बहुत सारी तैयारियां भी कीं थी और वह चाहती है कि विराट को एहसास हो कि वह उसके बिना खुश रह सकती है।

सम्राट पूछता है कि क्या ऐसा इसलिए है क्योंकि विराट और साई भी वहां गए थे? पाखी कहती है कि यह सच है और उसने उसे वहां पाया। पाखी बोलती है कि यह महत्वपूर्ण नहीं है कि वह वहां क्यों जाना चाहती है, लेकिन वह किसके साथ जाना चाहती है।

सम्राट सहमत हो जाता है और कहता है कि वह चाहता है कि यह परिवार अनाथालय के बच्चों से मिले। पाखी हैरान दिखती है, इसलिए सम्राट पूछता है कि क्या वह नहीं चाहती कि परिवार साथ आए?

पाखी कहती है कि वह सबको बताएगी कि वे सभी महाबलेश्वर जाएंगे। सम्राट उसे पहले साईं से पूछने के लिए कहता है, क्योंकि यह सबसे महत्वपूर्ण है। पाखी सोचती है कि हर कोई साईं के बारे में ही क्यों सोचता रहता है।

दोस्तों, क्या लगता है आप लोगो को, की क्या पाखी का ये नया प्लान कामयाब होगा?

जानने के लिए मिलते है कल।

यह भी पढ़े: गुम है किसी के प्यार में लिखित एपिसोड 308

Post a Comment

Previous Post Next Post