Anupama Written Update - Kya Anuj Lega Iss Apmaan Ka Badla EP 387

अनुपमा रिव्यु और रिटेन अपडेट 6 अक्टूबर 2021 हिंदी में - क्या अनुपमा बदला लेगी इस बेज़्ज़ती का ?

Anupama-Written-Update-6-October-2021-Kya-Anuj-Lega-Iss-Apmaan-Ka-Badla-EP-387

वनराज ने दिखाई अपनी औकात 

ऐसा लगता है दोस्तों जैसे वनराज पैदा हुआ ही इसिलए है जिससे वह लोगो को ताने मारे उन्हें चैन से जीने ना दे। अनुज और अनुपमा बड़े ही प्यार से अपने नए काम की शरुआत करना चाहते थे और कोशिश भी कर रहे थे लेकिन वनराज और लीला शाह को ये मंजूर नहीं हुआ।  कर दिया हंगामा सबके बीच। 

वनराज ने अनुज से इतनी गिरी हुई बात कह दी है कि अगर उसे अनुपमा के साथ जो करना है खुलम खुल्ला, बेशर्मो की तरह करे। अनुज भी आखिर एक इंसान है कब तक चुप बैठे और उसे भी गुस्सा आ गया और वनराज से कह दिया कि वह उसके और अनुपमा के बारे में घटिया और ओछी बातें न करें। 

बापू जी ने भी वनराज को चुप रहने और तमाशा न करने को कहा, लेकिन वनराज ने उनकी एक नहीं सुनी। वनराज ने हवन अग्नि में स्वीकृति पत्र जला दिया। वनराज ने कहा कि अनुज उसके परिवार के लिए एक अजनबी है और अनुपमा के जैसे चाहे वैसे रिश्ते रखे लेकिन उसके परिवार पर कोई असर नहीं पड़ना चाहिए।वनराज ने कहा कि अगर अनुज और अनुपमा उसके परिवार के लिए समस्या खड़ी करेंगे तो वह किसी को नहीं छोड़ेगा।

रिलेटेड - वनराज ने की अनुज की इंसल्ट 

रिलेटेड - अनुज और अनुपमा का हुआ एक रंग 

काव्या ने की दिमाग वाली बात 

काव्या चाहे जितना लड़ ले लेकिन वो बातें हमेशा प्रैक्टिकल करती है। काव्या घर पहुंचकर, सबके सामने तमाशा करने और अनुज से लड़ने के लिए वनराज पर चिल्लाती है। बा कहती है कि वनराज ने सही किया। काव्या ने कहा कि हमारी आर्थिक स्थिति खराब है और इसलिए हमें अनुज की मदद की जरूरत है। वनराज बोलता है कि उन्हें अनुज की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है।

अनुज ने दिया हौसला 

उधर अनुपमा का रो रो कर बुरा हाल था। अनुज अनुपमा के पास पहुंच कर उसे शांत रहने के लिए कहा। अनुपमा अनुज के सामने वनराज की बातों के लिए माफी मांगने लगी।

अनुपमा ने कहा कि यह साझेदारी अनुज के जीवन में समस्याएं पैदा करेगी और वह हर बात के लिए खुद को दोषी ठहराती है। अनुज ने कहा कि वह अब चुप नहीं बैठेगा और अपनी हद पार करने जा रहा हैं इसके लिए पहले से ही माफी मांग रहा हूँ। 

अनुज ले सकता है अपमान का बदला 

अनुज ने कहा कि मैंने तुम्हारे निजी जीवन में हस्तक्षेप नहीं करने का फैसला था लेकिन वनराज की इस हरकत के बाद चुप नहीं रह सकता। अनुज कहता है किसी को तुम्हे अपमानित करने का कोई अधिकार  नहीं है और वह अनुपमा को जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करता है। अनुज कहता है कि अनुपमा को वनराज के खिलाफ चुप नहीं रहना चाहिए। 

अनुज ने कहा कि अगर कोई इंसान उससे नफरत करता है तो वह व्यक्ति चुप नहीं रह सकता। अनुज ने  अनुपमा को समझाया की इन सीमाओं के साथ ऊंची उड़ान नहीं भर सकती। और खुशी-खुशी जीवन जीने का अनुरोध किया। अनुज अनुपमा से अपने लिए जीने का अनुरोध करता है और वहां से चला जाता है। 

अनुज ने वनराज की बात मान ली और क्रोधित हो गए। वनराज की गलतियों के लिए बापू जी ने गोपी काका के सामने माफी मांगी। गोपी काका ने कहा कि वह वनराज को माफ नहीं कर सकते। जिग्नेश ने कहा कि वह इस घटना के लिए वनराज को माफ नहीं कर सकते। जिग्नेश ने कहा कि अगर वनराज दोबारा ऐसा करेगा तो वह वनराज को नहीं छोड़ेगा। गोपी काका सोच रहा था कि अनुपमा चुपचाप इन चीजों को कैसे संभाल सकती हैं? अनुज और अनुपमा वनराज की बातों को याद करके रोते रहे। 

देखते है क्या होगा कल के एपिसोड में - क्या अनुपमा सहती रहेगी वनराज के ज़ुल्म या छोड़ देगी बापूजी का घर ?

पढ़ने के लिए धन्यवाद् !

उमा धीमान  

Post a Comment

Previous Post Next Post