Anupama 14th October Written Update Episode 395

अनुपमा 14 अक्टूबर 2021 रिटन अपडेट हिंदी में एपिसोड 395 - अनुपमा को हुई समर की चिंता 

Anupama-14th-October-Written-Update-Episode-395

अनुपमा नंदिनी की सुरक्षा के लिए उसे अपने साथ ऑफिस ले जाती है और सोचती है कि वह अब वनराज से रोहन के बारे में बात नहीं कर सकती क्योंकि उसे कैफ़े में एक बड़ा ऑर्डर मिला है। अनुपमा समर की सुरक्षा के लिए भगवान से प्रार्थना करती है। अनुपमा अपने ऑफिस में प्रवेश करती है, तो वह देखती है की गोपी काका एक राजकुमार का अभिनय कर रहे है और अनुज को राजा का अभिनय करने के लिए मजबूर करते है। गोपी काका कुछ हंसी मज़ाक करते है जबकि अनुज घबराकर उन्हें चकमा देने की कोशिश करता है। 

गोपी काका अनुज की तरह शायरी सुनाते है और अनुपमा को रानी का अभिनय करने के लिए स्वागत करते है। अनुज शर्मिंदा महसूस करता है।  गोपी काका अनुज को इशारा करते हुए निकल जाते है। अनुपमा काम से वहा आती है और वह अनुज से कुछ पूछती है और काम करने में लगती है। अनुपमा अनुज को देखकर मुस्कुराती है। अनुज के आँखों के सामने, पाखी, वनराज और अनुपमा की सेल्फी आ जाती है और वह गंभीर हो जाता है और कहता है कि चलो केबिन में चलते है।

बा को अपनी सहेलियों के ग्रुप चैट में संदेश मिलता है कि उनकी बहू अनुपमा द्वारा आयोजित एक कुकिंग प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए जिद कर रही हैं और एक होटल में काम करना चाहती हैं। अगर वे जीत जाती हैं, तो वे ऐसा नहीं होने दे सकती। अनुपमा उनकी बहू को क्यों बिगाड़ रही है? ये अनुज कौन है और अनुपमा कैसे जानती है उसे ?

यह भी पढ़े - क्या था अनुज का बुरा सपना 

अनुज अपने कार्यालय से निकल रहा होता है की देविका अनुज से कहती है कि कई महिलाओं ने प्रतियोगिता के लिए पंजीकरण तो कराया है, मगर ये सब नहीं आई तो क्या होगा। अनुज कहता है कि जो लोग आएंगे उनके बीच प्रतिस्पर्धा होगी।

अनुपमा पूछती है कि अगर पैसा खर्च करने के बाद भी उनका लक्ष्य पूरा नहीं हुआ तो क्या होगा। अनुज कहता है कि यह एक व्यवसाय है और हानि लाभ चलता रहता है।  फिर अनुज देविका को अनुपमा और नंदिनी को अपनी कार में घर छोड़ने के लिए कहता है।देविका कहती है कि वह आज कार नहीं लाई और अनुज को ही उसे, अनुपमा और नंदिनी को घर छोड़ना पड़ेगा। अनुपमा झिझकते हुए कहती की वह ऑटो से चली जाएगी लेकिन अनुज मना कर देता है। 

यह भी पढ़े - क्या वनराज में आएगा बदलाव 

नंदिनी अनुपमा से कहती है कि समर की फ्लाइट अब तक उतर चुकी होगी। अनुपमा कहती है कि उसने संजय भाई को समर और उसके दोस्त को लाने के लिए भेजा है। वे कार में बैठने ही वाले होते हैं कि वहा पाखी वनराज के साथ पहुंच जाती हैं और कहती हैं कि चूंकि कैब की हड़ताल है, इसलिए वे उन्हें लेने आए थे। 

अनुज अनु को अपने परिवार के साथ जाने के लिए कहता है। वनराज कहता हैं कि अगर पाखी ने जोर नहीं दिया होता तो वह नहीं आते। अनुपमा कहती है कोई बात नहीं और वे सब वहा से चले जाते है।

यह भी पढ़े - क्या अनुपमा का फैसला सही है 

अनुज अपनी कार में बैठकर शायरी सुनाता हैं। देविका नाराज हो जाती है और कहती है कि अगर वह उसका मालिक नहीं होता तो वह उसे थप्पड़ मार देती। वह सैक्रिफाइस क्यों करता है, वनराज पहले से ही काव्या से शादी कर चुका है, इसलिए उसे अनुपमा को वनराज के साथ जाने देने की मूर्खता से बाहर निकलना चाहिए। अनुज कहता हैं कि वे एक तरह का परिवार हैं। देविका का कहना है कि वनराज को अपने जीवन में एक चरण मिलता है जब वह कभी-कभी अच्छा काम करता है, लेकिन अंततः वह गलत करेगा और कभी नहीं बदलेगा।

उसे यकीन है कि वनराज और काव्या मिलकर अनुपमा को फिर से परेशान करेंगे। अनुज कहते हैं कि अगर इस बार उन्होंने अनुपमा को परेशान करते हैं, तो उन्हें भी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। वह पूछती है कि अनुज  क्या सोच रहा है। वह कहता है कि अनुपमा उसे केवल एक दोस्त के रूप में मानती है। वह कहती है कि अगर एकतरफा प्यार गलत है, तो पूरी दुनिया गलत है क्योंकि जीवन में हर किसी को एकतरफा प्यार होता है। उसे सोचना चाहिए कि अनुपमा  ही मीरा है और वह कान्हाजी है, मीरा कभी गलत नहीं होती। 

देविका कहती है कि प्रेम, शिकारी, प्रेमी और भक्त में 3 चरण होते हैं।  अनुज की भक्ति अगले स्तर की है क्योंकि वह अनुपमा को 25 साल से प्यार कर रहा है। वह सोशल मीडिया पर उसकी शायरी पढ़ती है। वह सुझाव देती है कि अनुपमा अविवाहित है और उसके जैसे पति की हकदार है। यह सुनकर अनुज की उत्सुकता बढ़ जाती है। वह कहती है कि अनुपमा महान है और इसलिए ज्यादातर समय उदास रहती है, तो अनुज को इंसान बनकर रहना चाहिए और अनुपमा को खुश रखना चाहिए।

अनुपमा नंदनी के साथ घर लौटती है। बा उसे बताती है कि उसकी असली जगह इस घर में है न कि किसी और के साथ। अनुपमा कहती है कि उसे न केवल घर में बल्कि बा के दिल में भी जगह मिलनी चाहिए। बा बिना कुछ बोले चली जाती है। 

उसी वक्त समर भी घर पहुँच जाता है और नंदिनी से पूछता है कि क्या रोहन ने उसके जाने के बाद उसे परेशान किया। वह कहती है नहीं। अनुपमा कहती है कि उन्हें इसके बारे में वनराज को बताना चाहिए। वनराज प्रवेश करता है और पूछता है कि क्या बताना चाहिए ? समर झिझकता है और कहता है कि वह अपनी सगाई के बारे में चर्चा करना चाहता था, लेकिन अब वह बहुत थक गया है। 

वनराज सहमत हो जाता है और चला जाता है। समर का कहना है कि वनराज अपने ताने शुरू करेगा, इसलिए बेहतर है कि वे पुलिस में शिकायत दर्ज करें या अनुज की मदद लें। अनुपमा का कहना है कि अनुज उसका दोस्त और बिजनेस पार्टनर है, लेकिन वनराज समर के पिता हैं और उनके बच्चे पर उनका पहला अधिकार है। समर का कहना है कि वह श्री शाह से बात नहीं करना चाहता। अनुपमा कहती है कि वह कल रोहन से बात करके देखेगी। समर का कहना है कि श्री शाह सुपरमैन नहीं हैं। अनुपमा का कहना है कि वह उसका पिता है और उसे पहले उन पर भरोसा करना चाहिए।

रॉक एन रोल के साथ बने रहने के लिए धन्यवाद् !

Post a Comment

Previous Post Next Post