Anupama 16th October 2021 Written Update - Fir Ek Baar Anuj Bana Farishta EP 397

अनुपमा 16 अक्टूबर 2021 रिटन अपडेट हिंदी में - फिर एक बार अनुज बना फरिश्ता 

Anupama-16th-October-2021-Written-Update-Fir-Ek-Baar-Anuj-Bana-Farishta-EP-397

अभी तक हमने अनुपमा सीरियल में देखा की रोहन की धमकी की वजह से नंदनी यू एस जाने के लिए निकल रही थी की अनुपमा आकर उसे रोक लेती है।  नंदनी को अपने साथ ऑफिस और घर में रखती है। 

अनुपमा रोहन से जुडी सारी बातें वनराज को बताने पर ज़ोर देती है लेकिन नंदनी और समर नहीं चाहते थे की रोहन की बात घर वालो के सामने आ जाये। 

समर कहता है की अनुज से मदद मांग लेते है लेकिन अनुपमा नहीं चाहती की वनराज के होते हुए किसी और की मदद ली जाये। और उसे ये भी डर है की अगर वनराज को ये बात बाद में पता चली तो बहुत कलेश हो जायेगा। 

अनुपमा और अनुज के कुकिंग कॉम्पीशन संभाल रहे होते है। अनुपमा सभी को 'घर से बाहर निकलने पर' बधाई देती है तो सभी औरते अनुपमा को सारा क्रेडिट देती है। अनुपमा कहती है की ये सब अनुज की वजह से मुमकिन हुआ है और देविका जैसी दोस्त, जिसने मुझे बाहर कदम रखने की हिम्मत दी।  असली बधाई के हक़दार ये दोनों है। पूरा माहोल खुशनुमा था। 

तभी समर नंदनी का लिखा लेटर लेकर डांस अकदमी पहुँचता है। अनुपमा घबराकर समर के पास आती है और उससे कहती है की मैंने कहा था की अपने पापा को सब बता दे, तो समर तब भी मना करता है।  

अनुज, समर और अनुपमा की बातें सुन लेता है और अनुपमा से कहता है की तुम किसी बात की चिंता मत करो। मैं और समर जा कर नंदनी को ढूंढते है और तुम यहाँ सम्भालो वरना सारी मेहनत बेकार हो जाएगी। 

अनुपमा कुकिंग कॉम्पीशन की जज है तो उसका काम है जो डिश सबने तैयार की है उसको टेस्ट कर के उनको बताये की किसकी डिश आई है फर्स्ट और किसकी हुई फेल। 

अनुपमा के हाव भाव देख कर सभी लोग चिंता करने लगे और पूछने लगे की आखिर हुआ क्या, अनुज भी अचानक कही चला गया और आप भी टेंशन में हो। वह सभी से यही कहती है की अनुज को कोई अर्जेंट कॉल आ गई बस और मैं ठीक हु। 

उधर अनुपमा वनराज को फ़ोन पर नंदनी के बारे में बताने की कोशिश करती है लेकिन वह भी किसी वेंडर के साथ सामन को लेकर बातचीत कर रहा होता है तो अनुपमा को बाद में कॉल करने को   कहता है। 

दूसरी तरफ अनुज और समर लगातार नंदनी को ढूंढ रहे होते है।  समर को घबराते देख अनुज समर को हिम्मत देता है और कहता है की प्यार को खोने का डर वह बखूबी जनता है और प्यार अगर किसी और का हो जाये तो कैसा लगता है वह इस समय समर की हालत समझ सकता है।  

समर और अनुज नंदनी की फोटो लेकर हर जगह उसे तलाश करने की कोशिश करते है।  

तभी काव्या अपना फ़ोन देख कर कहती है की ये बेवकूफ मेरी फ़िरेन्ड लिस्ट में अभी तक है।  वनराज पूछता है की कौन है वो तो काव्या कहती है की रोहन, नंदनी का एक्स ! ये सुन कर वनराज चौंक जाता है ! उसी समय अनुपमा वहां पहुँच जाती है। 

अनुपमा वनराज को बताती है की कैसे रोहन नंदनी को परेशान कर रहा था और वह घर छोड़ के चली गई।  समर उसे ढूंढ़ने गया है। अनुपमा कहती है की अभी आप बिना सोचे अपने बच्चो की मदद करिये।  वनराज को गुस्सा आता है की बात इतनी बढ़ गई और उसे अब बताया जा रहा है। 

बापूजी वनराज को ये सारी बातें बाद में करने के लिए कहते है। 

वनराज समर को फ़ोन लगता है, समर ने अपना फ़ोन अनुज की गाड़ी में छोड़ दिया होता है और वह नंदनी को खोजने में व्यस्त है तो अनुज देखता है की समर के घर से फ़ोन है और उनको चिंता होगी सोचकर फ़ोन उठा लेता है।  

वनराज कहा हो बेटा कहता है लेकिन उधर तो अनुज है।  जैसे ही अनुज बताता है की समर अभी फ़ोन के पास नहीं है इसिलए मैंने उठाया और हम नंदनी को ढूंढ रहे है आप लोग परेशान न हो।  वनराज गुस्से में बौखला जाता है और कहता है की मैं अब कहीं नहीं जाऊंगा क्योकि समर को मेरी ज़रूरत नहीं है।  समर ने अपने बाप की जगह किसी और को दे दी है।

फिर एक बार अनुज बना फरिश्ता 

अनुपमा चौंक जाती है की वनराज क्या बोल रहा है।  इतने में अनुज और समर को कुछ भीड़ दिखाई देती है वहां जाकर देखते है तो नंदनी बेहोश हालत में पड़ी होती है।  अनुज घर पर बता देता है की वो लोग नंदनी को लेकर आ रहे है। 

वनराज इस पर भी गुस्सा होता है की कॉल का जवाब नहीं दिया सिर्फ मैसेज किया की नंदनी मिल गई और ये लोग आ रहे है। काव्या कहती है की अनुज तुम्हारी कोई गर्ल फ्रैंड नहीं। हमारे लिए ये जरुरी है की नंदनी मिल गई।  अनुपमा भी काव्या की बात से सहमत होती है। 

अनुज और समर थोड़ी देर में नंदनी को लेकर घर पहुँचते है। 

वनराज अनुपमा को नंदनी की ऐसी हालत का जिम्मेदार ठहराता है, अनुज को ये सुन कर गुस्सा आता है।  समर करता है की मम्मी की कोई गलती नहीं क्योकि मैंने और नंदू ने ही आपको बताने से मना किया था और अनुज समर को सप्पोर्ट करने की कोशिश करता है की वनराज उसे टोक देता है। 

समर अनुज को गले लगा कर धन्यवाद् करता है। 

अनुपमा कहती है की आप थोड़ा काम एहसान कीजिये न क्योकि एक सॉरी शब्द बहुत छोटा पड़ता है आपके लिए।  वनराज यह देख कर अंदर ही अंदर जल रहा होता है। लेकिन बापूजी की वजह से चुप रहता है। 

यह भी पढ़े - वनराज ने दिया अनुपमा का साथ 

यह भी पढ़े - अनुज ने क्या देखा बुरा सपना 

यह भी पढ़े - क्या वनराज में बदलाव आएगा 

यह भी पढ़े - क्या अनुपमा का फैसला सही है 


आने वाला है एक ट्विस्ट !


देखते है अगले एपिसोड में क्या देखने मिलता है !


रॉक  एन रोल के साथ बने रहने के लिए धन्यवाद !


Post a Comment

Previous Post Next Post