Anupama Written Update - Anupama Vanraj Ka Barabari Ka Mukabala EP 387

अनुपमा रिव्यु और रिटेन अपडेट 7 अक्टूबर 2021 टुडे एपिसोड 387 हिंदी में - क्या अनुपमा मुकाबला करेगी वनराज की बराबरी का?

Anupama-Written-Update---Anupama-Vanraj-Ka-Barabari-Ka-Mukabala-EP-387.gif

अनुपमा ही क्यों ?

बापू जी घर पहुंचते है, वनराज उनसे कहता है कि बापू जी आप मुझसे नाराज हैं लेकिन अनुज ने ही मुझे मजबूर किया है। वह सोचता है कि शाह परिवार को खरीद सकता हैं लेकिन ऐसा नहीं है। बापू जी वनराज के सामने हाथ जोड़ते है और वहां से चले जाते है। 

उधर देविका रोते-रोते अनुज को ढूंढकर उसके पास पहुंच जाती है। अनुज पूछता है कि वनराज हर समय अनुपमा को क्यों सताता हैं? अनुज अनुपमा के बारे में ही सोच रहा था और वह कहता है कि वह इस तरह नहीं रह सकती। अनुज कहता है कि उसने आज अनुपमा को ऐसे रोते हुए देखा और वह कुछ नहीं कर पाया। देविका कहती है कि अनुपमा अपने परिवार से बहुत प्यार करती है वह उनको नहीं छोड़ेगी और उसका परिवार उसको सिर्फ परेशानियां देता है।

अनुज कहता है कि उसने अनुपमा को रोता देख अपनी हर हद पार करके उसको वह घर छोड़ने के लिए कह दिया है। देविका कहती है की हम दोस्ती के नाते अनुपमा को आईना दिखा सकते है फैसला तो अनुपमा को ही लेना होगा।

यह भी पढ़े - क्या अनुज लेगा हुए अपमान का बदला ?

अनुपमा ने दे डाली वनराज को चुनौती 

अनुपमा भी शाह निवास पहुंचती। अनुपमा वनराज के पास जाकर कहती ही की उसने उसके जीवन के सबसे अच्छे पल को नष्ट कर दिया। अनुपमा कहती है कि वनराज शाह चाहे कितनी कोशिश कर ले मेरी खुशी को नष्ट करने की लेकिन वास्तव में कुछ भी नहीं कर सकता। 

अनुपमा ने सॉरी कहा, वनराज पूछता है की सॉरी तो ठीक है पर किस -किस बात के लिए सॉरी कहोगी। अनुपमा एक छोटा स्टूल खिंच के लाती है और वनराज के सामने आकर खड़ी हो जाती है।  अनुपमा ने कहा कि तुमसे बराबरी के लिए,क्योकि वनराज शाह चिल्ला रहा है, गुसा दिखा रहा है वो इसी डर से है की कही अनुपमा वनराज शाह के बराबर ना आ जाये।

वनराज ने कहा कि एक पत्नी चाहे तो अपने जीवन में आगे बढ़ सकती है। अनुपमा कहती है कि एक पत्नी के पास कई जिम्मेदारियां होती है और पैरो में परम्परा की बेड़िया तो वो कैसे आगे बढ़ेगी। अनुपमा ने कहा कि वनराज नाराज हैं क्योंकि अनुपमा ने आगे बढ़ने के लिए उसका साथ नहीं माँगा। 

बा ताना मारते हुए कहती है कि अनुपमा एक पराये मर्द के साथ काम कर रही है। अनुपमा ने कहा कि वह तो एक पराये मर्द के साथ रह भी रही थी, उस वक्त जैसे सबके मुँह पर ताले लग गए हो। अनुपमा ने कहा कि वनराज को अनुज से जलन इसीलिए भी होती है क्योंकि वह उससे ज्यादा फिट और गुणी हैं। बा अनुपमा पर चिल्लाने की कोशिश करती है, लेकिन उसने बा को रोक दिया और फिर ताना न मारने के लिए कहा।

अनुज को है अनुपमा की फ़िक्र 

अनुज अनुपमा के बारे में सोच रहा था और रो रहा था। गोपी काका अनुज के कमरे में पहुंचे और उसे शांत रहने के लिए कहा क्योंकि जल्द ही सब ठीक हो जाएगा।

अगले दिन अनुज अपने ऑफिस में अनुपमा का इंतजार करता है। अनुज अनुपमा को अपने ऑफिस में देखकर बहुत खुश हो जाता है। अनुज मन में एक गाना चलता है "जिए तो जिए कैसे बिन आपके" अनुपमा से मिलता है और पूछता है कि क्या वह ठीक है ? और उसने काम करना शुरू कर दिया है? अनुपमा कहती है कि शुरू कैसे करू मुझे कुछ भी समझ में नहीं आ रहा।

अनुज को प्रोत्साहित करने के लिए उसका आभार व्यक्त करती हैं। 

नुपमा ने कहा कि वह चाहे कितनी ही ऊँची उड़ान भरे लेकिन बाद जाना तो घर पड़ेगा। वह ये कार्य अपने लिए नहीं अपनों के लिए कर रही है। अगर अपनों को पीछे छोड़ देगी तो उसका केवल तन ही आगे बढ़ेगा मन पीछे ही रह जायेगा। इसिलए वह अपने परिवार को नहीं छोड़ सकतीं। 

अनुज मुस्कुराता है और कहता है कि उसे जो ठीक लगे वह कर सकती हैं लेकिन दुसरो के लिए जीना न छोड़े। अनुपमा ने कहा कि वह अपनी खुशी पर ध्यान देंगी। वह बहुत भाग्यशाली हैं क्योंकि उसके जीवन में देविका और अनुज जैसे दोस्त हैं। अनुज ने अनुपमा को प्रोजेक्ट के बारे में समझाना शुरू किया। 

समर का खतरा अभी टला नहीं  

डांस एकेडमी में नकाब पहनकर पहुंचे समर, नंदिनी डर जाती है. समर ने नंदिनी से रोहन से न डरने को कहा। नंदिनी ने कहा कि रोहन कुछ भी कर सकता है और समर को हर समय सतर्क रहने के लिए कहा।

देखते है दोस्तों क्या होने वाला शाह परिवार का अगला ड्रामा ! 

आपको क्या लगता है वनराज चुप बैठेगा ? काव्या और वनराज के बीच बढ़ेंगी दूरिया ?

अनुपमा को शाह निवास छोड़ देना चाहिए या नफरत सहनी चहिये ?

आप मुझे कमेंट में बता सकते है !!

रॉक एन रोल के साथ जुड़े रहने के लिए धन्यवाद् !!  

Post a Comment

Previous Post Next Post