Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein 21 October 2021 Written Update - Ghar Lauti Sai - Pakhi Ka Dil Tuta

Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein 21 October 2021 Written Update - Ghar Lauti Sai - Pakhi Ka Dil Tuta

कल के एपिसोड में हमने देखा की विराट और साईं हॉस्पिटल से घर लौट रहे हैं।

वही चव्हाण निवास में जहां हर कोई साईं के घर लौट ने से खुश है, ओंकार, सोनाली और करिश्मा जो चाहते थे की साईं कभी घर वापस न आए, वो साईं के लिए बुरा भला कहते हैं।

तबी मोहित भी गणेश विसर्जन के दिन घर लौट आता है।

विराट और साई गणेश विसर्जन के चलते सड़क पर जाम लगने से फस गए हैं और तभी साईं को वही लड़का दिखता है जिसकी उसने जान बचाई थी।

साईं कार से उत्तर कर उसके पीछे जाती है और उसी जग पर पोहोच जाति है जहां पर वो गिर गई थी।

वहाँ पोहोचते ही साईं को पुरानी बातें याद आने लगती है और चक्कर खाकर गिरने ही वाली होती है की विराट आ कर साईं को बचा लेता है।

फिर विराट साईं को अपने गोद में उठा कर ले जाने लगता है, अब आगे…

Ghum-Hai-Kisikey-Pyaar-Mein-21-October-2021-Written-Update-Ghar-Lauti-Sai-Pakhi-Ka-Dil-Tuta

गुम है किसी के प्यार में 21 अक्टूबर 2021 रिटन अपडेट - घर लौटी साईं - पाखी का दिल टुटा

एपिसोड की शुरुआत में सभी को साई और विराट की चिंता होती है की उन्हें घर आने में इतनी देर क्यों हो रही हैं। अश्विनी कहती है कि वे जल्द ही आ जाएंगे और बाप्पा का आशीर्वाद साईं पर है।

करिश्मा बोलती है कि उसने कभी भी सास को अश्विनी की तरह अपनी बहू की तारीफ करते नहीं देखा। वहीँ पाखी कहती है कि ऐसा लगता है जैसे विसर्जन के लिए कोई सेलिब्रिटी मेहमान आ रहा है।

ओंकार भी ताना मारता हैं कि उन्हें साईं के स्वागत के लिए गाना और नृत्य करना चाहिए। निनाद कहता हैं कि यह एक अच्छा विचार है और वह साईं के लिए गाएंगे।

निनाद अश्विनी से कहता है कि वह विराट को साईं को संभाल कर घर लाने के लिए कहे। अश्विनी सोचती है कि उसके पास उनके लिए कुछ और योजनाए हैं।

भवानी अश्विनी से पूछती है कि वह साईं के लिए क्या बनाने जा रही है। अश्विनी कहती है कि वह साईं के लिए खिचड़ी और मोदक बनाएगी।

भवानी कहती है कि वह भी इस काम में उसकी मदद करेगी।

हर कोई यह सुन कर हैरान हो जाता है।

भवानी कहती है कि वह साईं के लिए एक विशेष मोदक बनाना चाहती है। पाखी कहती है कि साईं बहुत भाग्यशाली हैं। वहीँ सम्राट कहता हैं कि वे भाग्यशाली हैं कि साईं की वजह से उन्हें भवानी का विशेष मोदक खाने को मिलेगा।

सोनाली भवानी को ताना मारती है कि उसने अपने और अपनी बहू के लिए कभी कुछ नहीं बनाया। भवानी उसे ऐसी बातें न कहने के लिए कहती है।

अश्विनी उन्हें शांत करती है और कहती है कि सोनाली आज बहुत खूबसूरत लग रही है। करिश्मा पाखी से कहती है कि साई जल्द ही सभी की पसंदीदा बहू बन जाएंगी।

ओंकार कहता है कि वे सब इतना ताम झाम क्योंकि कर रहे है, यह सिर्फ साई हैं, कोई फिल्म स्टार नहीं। सोनाली उसे शांत होने के लिए कहती है। वह भवानी को अपनी सेहत का भी ध्यान रखने के लिए कहती है।

भवानी उससे कहती है कि वह उसके बारे में चिंतित होने का नाटक न करे।

तभी देवी भी घर आती है और यह सुनकर उत्साहित हो जाती है कि भवानी साईं के लिए एक विशेष मोदक बनाएगी। देवी को वहाँ देख कर पाखी हैरान हो जाती है।

भवानी करिश्मा से उसकी मदद करने के लिए कहती है। करिश्मा झिझकती है, इसलिए भवानी उससे कहती है कि उसकी रिक्वेस्ट ही उसका ऑर्डर है।

भवानी कहती है कि वह रसोई संभाल लेगी ताकि साईं के आने पर अश्विनी उसके सवागत के लिए यहाँ हो सके।

नीनाद साई और विराट को लेकर चिंतित होने लगता हैं। ओंकार निनाद को थोड़ा आराम करने के लिए कहता है। शिवानी कहती है कि निनाद को भी साई के सवागत के लिए वही रहना चाहिए।

उसी समय सभी कार के हॉर्न की आवाज सुनते हैं।

इस पर सोनाली और शिवानी एक बार फिर आपस में भिड़ जाते है। सम्राट उनसे कहता है कि बहस न करें वरना साईं को बुरा लगेगा।

पाखी ताना मारती है कि उसे साईं के स्वागत के लिए एक बड़ी माला बनानी चाहिए। शिवानी कहती है कि यह एक अच्छा विचार है।

पाखी कहती है कि सभी को साईं के प्रति कोई गुस्सा नहीं है, उन्हें अपने रक्तचाप के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है।

निनाद कहता हैं कि भले ही वे पुराने जमाने के हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि उन्हें साईं की परवाह नहीं हैं।

विराट साई को घर के अंदर लाता है। सोनाली, ओंकार और पाखी को छोड़कर हर कोई उन्हें देखकर खुश होता है। अश्विनी भावुक हो जाती हैं।

पाखी विराट को साई का हाथ पकड़े देखती है, और अंदर ही अंदर जलना शुरू कर देती हैं।

अश्विनी उन्हें अंदर आने के लिए कहती हैं, तभी पाखी ताना मारती है कि अश्विनी को आरती जरूर करनी चाहिए, क्योंकि वह हमेशा ऐसा करती है, जब भी साईं घर छोड़ कर चली जाती है और फिर वापस आ जाती हैं।

सम्राट उसे ऐसा न कहने के लिए कहता है। पाखी बोलती है कि वह सिर्फ इतना कह रही है कि साई को कोई बुरी नजर नहीं न लगे। अश्विनी काजल को बुरी नजर से बचाने के लिए रखा होता है और वह उसे अंदर सें ले आती हैं।

मोहित भी बड़ी ख़ुशी से साई का स्वागत करता हैं। साई उससे पूछती हैं कि उसका शो कैसे रहा। वह बताता है कि उसका शौ सफल रहा। वह विराट से शिकायत करता है कि उसने उसे उसके हादसे के बारे में क्यों नहीं बताया।

ओंकार उसे डांटता है कि उसने सभी से कहा था कि तुम्हे यह बात न बातये वरना तुम अपना काम छोड़कर आ जाते।

साई मोहित से कहती है कि चिंता न करें क्योंकि वह अब वापस आ गई है।

शिवानी कहती है कि इस घर की खुशी भी उसके साथ वापस आ गई है, क्योंकि यह घर उसके बिना उजाड़ लग रहा था।

साईं कहती है कि उसके बिना घर में शांति होती हैं, क्योंकि अगर वह यहां नहीं होती तो कोई भी नहीं लड़ता।

एपिसोड समाप्त

क्या साई और विराट की दुरी उनको करीब ले आएगी?

अपने विचार प्लीज नीचे कमैंट्स में बातये।

ऐसे ही रोमांचक उपडटेस के लिए बने रहें केवल rocknroll.in पर..

यह भी पढ़े:

सम्राट पाखी के रिश्ते का अंत

अश्विनी ने विराट और साईं को किया अलग

विराट साई की जुदाई ने जलाई प्यार की आग

सम्राट ने चव्हाण निवास छोडने का फैसला किया

विराट की गोद में चव्हाण निवास में साई की एंट्री - पाखी ग़ुस्से से लाल

Post a Comment

Previous Post Next Post