TMKOC Written Update - Bhide Ka Sakharam Chori Hone Se Bacha

तारक मेहता का उल्टा चश्मा लिखित अपडेट एपिसोड 3267 - भिड़े का सखाराम चोरी होने से बचा

TMKOC-Written-Update-Bhide-Ka-Sakharam-Chori-Hone-Se-Bacha


तारक मेहता का उल्टा चश्मा के एपिसोड की शुरुआत में भिड़े गोकुलधाम सोसाइटी पहुंचता हैं।

तभी भिड़े की नजर एक अनजान व्यक्ति पर पड़ती है जो सखाराम को शुरू करने और लेने की कोशिश कर रहा होता है, यह देखकर भिड़े और माधवी दोनों चौंक जाते हैं।

भिड़े को लगता है कि एक चोर उसका सखाराम चुराकर भाग रहा है, तभी भिड़े उसे रोकने के लिए उसके पीछे दौड़ता है और चिल्ला कर सोसाइटी वालों से मदद के लिए पुकारता है।

भिड़े की आवाज सुनकर सोसायटी के सभी सदस्य नीचे आ जाते हैं, और सखाराम को बचाने के लिए उस चोर का पीछा करने लगते हैं।

अंत में भिड़े और गोकुलधाम के लोग चोर को पकड़ने में कामयाब हो जाते हैं, और फिर उसकी पिटाई कर देते हैं।

वह चोर बार-बार कहता है कि मैं चोर नहीं हूं, लेकिन उसकी कोई नहीं सुनता।

तभी उसके फोन पर एक कॉल आता है और भिड़े सोचता है कि शायद यह उस चोर के मालिक का फोन है, तो वह उसके फोन से बात करने लगता है।

कॉल पर बात करने के बाद भिड़े को पता चलता है कि यह सोढ़ी है और सोढ़ी ने उसे बताया कि उसने मैकेनिक को सखाराम की मरम्मत के लिए भेजा था।

भिड़े और पूरी सोसाइटी उस व्यक्ति से माफी मांगते है, और मरम्मत के लिए सखाराम ले जाने देते है।

भिड़े अपने घर के लिए निकलने वाला होता है, तभी पोपटलाल उसे रोकता है और पूछता है कि क्या उसके पास सखाराम की कोई फोटो है।

यह भी पढ़ें: सुंदरलाल परफॉरमेंस के पहले गायब

भिड़े पूछता है कि वह ऐसा क्यों पूछ रहा है। पोपटलाल बताता है कि, जिस तरह से सोसायटी के सभी सदस्यों ने उस मैकेनिक को पीटा था, वह उससे बदला लेने के लिए सखाराम को ऊंची जगह से नीचे फेंक सकता था।

लेकिन भिड़े समझ जाता हैं कि पोपटलाल और हाथी भाई उनके साथ मजाक कर रहे हैं, इसलिए वह उनसे इस तरह का मजाक करने से मना करता है और वह अपने घर लौट जाता है।

दूसरी ओर - बापूजी अपने घर पर टप्पू-सेना को ढूंढ रहे हैं, ठीक उसी समय टपू-सेना बापूजी को पीछे से आवाज़ लगते हैं और बापूजी डर जाते हैं।

बापूजी, टप्पू-सेना से पूछते हैं कि वे कहाँ गए थे। टप्पू-सेना बताती है कि वे सोसाइटी कंपाउंड में गए थे क्योंकि वहां बड़ा हंगामा हुआ था।

बाबूजी पूछते हैं कि क्या हुआ था, टप्पू-सेना बताती है कि भिड़े सर का स्कूटर चोरी होने वाला था, फिर बाद में उन्हें पता चला कि वह चोर नहीं बल्कि सोदी अंकल द्वारा भेजा गया मैकेनिक था जो सखाराम की मरम्मत करने आया था।

तभी पोपटलाल भी जेठालाल के घर आता है और टप्पू-सेना से गणेश चतुर्थी उत्सव के दौरान लिए गए कार्यक्रम की तस्वीरें मांगता है।

पोपटलाल बताता है कि वह अपनी तूफ़ान एक्सप्रेस में एक बहुत अच्छा लेख लिखेंगा और यह भी बताएगा कि हर सोसाइटी को इसी तरह का कार्यक्रम मनाना चाहिए जो कि हमारे देश को समर्पित हो।

वहीं भिड़े अपने घर पहुंच जाता है, वहां माधवी किसी से फोन पर बात कर रही होती है, और कहती है कि भिड़े अभी घर पहुंचे है और उसे फोन दे देती है.

यह भी पढ़ें: भिड़े एक नई परशानी में

फ़ोन भिड़े के काका होता है, जो उसे अस्पताल से कॉल कर रहे है, क्योंकि उसकी काकी की आंख का ऑपरेशन हुआ है, और अब उन्हें ₹35,000 की जरूरत है, ताकि वह उसकी काकी को हस्पताल से डिस्चार्ज करवा सके।

इतनी बड़ी रकम की बात सुनकर भिड़े के हाथ से फोन गिर जाता है, लेकिन माधवी, भिड़े से कहती है कि हमें उनकी मदद करनी चाहिए, क्योंकि जब हमने अपना बिजनेस शुरू किया था तो काका ने हमें अपना बिजनेस शुरू करने के लिए लोन दिया।

तो आज अगर उन्हें हमारी मदद की जरूरत है, तो हमें उनकी मदद करनी चाहिए, यह सुनकर भिड़े अपने काका को बताता है कि वह खुद पैसे उन्हें देने आएगा।

फोन कॉल के बाद भिड़े, माधवी से बैंक से पैसे निकालने और काका को देने को कहता है।

माधवी, भिड़े को बताती है कि उसके पास एक ऑर्डर है जिसे डिलीवर करने की जरूरत है क्योंकि आज उसके ग्राहक की दुबई की फ्लाइट है।

भिड़े कहता है कि, उसकी भी अभी ऑनलाइन क्लासेस हैं, इसलिए वह बैंक नहीं जा सकता हैं और अगर उसने बैंक जाने में देरी की तो बैंक बंद हो जाएगा, और वह पैसे नहीं निकाल पायेगा।

एपिसोड समाप्त।

दोस्तों, क्या भिड़े अपने काका को पैसे देने नहीं जा पाएगा? या भिड़े को टप्पू-सेना की मदद लेनी पड़ेगी? कहीं टप्पू-सेना की मदद भिड़े पर भारी न पड़े।

जानने के लिए मिलते हैं अगले एपिसोड में..

Post a Comment

Previous Post Next Post