Anupama Written Update - Ek Rang Me Anuj Aur Anupma EP 385

अनुपमा रिव्यु और रिटेन अपडेट - अनुपमा और अनुज का हो गया है एक रंग -  एपिसोड 385 - 4 अक्टूबर 2021

Anupama-Written-Update-Ek-Rang-Me-Anuj-Aur-Anupma-EP-385

बा नहीं हुई शांत 

अनुपमा बा को इनविटेशन कार्ड दिखा ही रही होती है तभी वनराज अनुपमा के हाथ से कार्ड लेकर अनुपमा अनुज कपाड़िया पढ कर सबको सुनाता है। काव्या कहने लगती है कि अच्छा है आज नाम साथ आया है कल...। 

अनुपमा वनराज को दो नामों के बीच लिखा हुए 'और' पर गौर करने को कहती है। अनुपमा कहती है वनराज को ये जलन हो रही है किसी निमंत्रण पत्र पर अनुपमा का नाम छापा है। इसिलए उनसे देखा नहीं जा रहा। 

अनुपमा ने बा को कार्ड हाथ में थमाया और उन्हें सुबह जल्दी तैयार रहने के लिए कहा। बा बिना कुछ कहे कार्ड को कई हिस्सों में फाड़ देती है।

किंजल बीच में बोलती है की बा आपने ये क्या किया? बा किंजल को चुप कर देती है। 

अनुपमा का नाम कार्ड पर एक पराये पुरुष के नाम के साथ लिखा हुआ है, अनुपमा भी गुस्सा हो कर कहती है की बा यह कोई घरेलु या शादी ब्याह का कार्ड नहीं बल्कि एक बिजनेस कार्ड है जिसमे दोनों पार्टनर के नाम लिखे है। अनुपमा उन कार्ड के टुकड़ो को उठा कर चली जाती है।

 रिलेटेड - वनराज ने की अनुज की इंसल्ट 

रिलेटेड - क्या होगा अनुपमा अगला कदम 

रिलेटेड - बा की नफरत क्या बदल जाएगी अनु  

बापूजी ने बोला सच 

बापू जी ने बहुत सही बात कही लीला, तूने अनुपमा को सिर्फ बेटी कहा है लेकिन माना कभी नहीं। 

बा ने कहा कि कोई पूजा में नहीं जाएगा। बापू जी कहते है कि पूजा में जरूर जाएंगे। मामा जी ने बा को शांत रहने और अनुपमा से सिखने के लिए बोलते है।(आज मामाजी को बहुत बढ़िया डायलॉग मिला) किंजल, समर और पाखी भी जायेंगे। सब वहां से चले जाते हैं, तब काव्या कहती है अभी बिज़नेस कार्ड मिला है और आने वाले टाइम में शादी का कार्ड भी मिलेगा। 

अनुज और अनुपमा हुए एक रंग 

अनुज, गोपी काका और देविका के साथ पूजा स्थल पर अनुपमा के आने की प्रतीक्षा कर रहा होता है। तभी अनुपमा अपने परिवार के साथ पूजा स्थल पर पहुंचती है। किंजल सबके सामने  कहती है कि क्या बात है अनुपमा और अनुज ने एक ही रंग के कपड़े पहने हैं। अनुज कहता है जब काम एक तो रंग भी एक ही होगा। 

अनुज अपने नए ऑफिस का डिज़ाइन अनुपमा को दिखाता है और वह देखकर खुश हो जाती है।

अनुपमा के साथ अनुज सेल्फी लेना चाहता है बेचारा बहुत डर डर के पूछता है अनुपमा बड़े आराम से कहती है हां ले लो और समर को भेज देना प्लीज।

गोपी काका ने बा के बारे में पूछा। बापू जी ने कहा कि वह किसी काम में व्यस्त हैं। किंजल देविका से मिलती है और अनुपमा की हर स्थिति में मदद करने के लिए उनके प्रति आभार प्रकट करती है। 

वनराज का नया षड्यंत्र 

घर में काव्या, वनराज और बा रह जाते है। बा कहती है कि जल्द ही सभी लोगों को अनुज और अनुपमा के बारे में पता चल जाएगा। बा वनराज से कुछ करने को कहती है। लेकिन वनराज कर ही क्या सकता है। 

अचानक एक डिलीवरी बॉय एक लेटर लेकर आता है। लेटर पढ़ कर वनराज गुस्से से भर जाता है। 

समर हुआ इमोशनल 

समर फंक्शन में अपनी माँ को खुश देख, इमोशनल हो जाता है और रोते हुए अनुज के गले लग कर उसको थैंक्स कहता है क्योकि उसने जो महत्व अनुपमा को दिया है वह आज से पहले उन्हें कभी नहीं मिला। 

समर ने अनुज से वादा लेता है कि वह हमेशा अनुपमा के साथ रहेगा। 

अनुज अनुपमा की भूमि पूजन साथ में  

सब लोग बैठते हैं और पंडित जी पूजा शुरू करते है। पूजा बिज़नेस शुरू करने के लिए की जा रही है तो बिज़नेस पार्टनर्स को साथ में बिठाया जाता है।  पूजा चल रही होती है तभी सामने से वनराज, काव्या और बा भी पूजा स्थल पर पहुंच जाते है। अनुज और अनुपमा को एक साथ पूजा में बैठे देखकर वनराज का पारा बढ़ जाता है।

पंडित जी देने वाले है अनुपमा और अनुज को हमेशा साथ रहने का आशीर्वाद देते हैं। क्या होगा वनराज का अगला षड्यंत्र ?

देखते है अनुपमा के अगले एपिसोड में !

अगर मेरा ब्लॉग पसंद आये तो प्लीज सब्सक्राइब जरुर करे!

पढ़ने के लिए धन्यवाद् !!


उमा धीमान   

Post a Comment

Previous Post Next Post