TMKOC Written Update - Ganesh Utsav Samaroh Ka Samaapan

तारक मेहता का उल्टा चश्मा लिखित अपडेट एपिसोड 3264 - गणेश उत्सव समारोह का समापन

TMKOC-Written-Update-Ganesh-Utsav-Samaroh-Ka-Samaapan

गणेश उत्सव समारोह का समापन

तारक मेहता का उल्टा चश्मा के एपिसोड की शुरुआत मैं सभी ने टप्पू-सेना की उनके अभिनय के लिए तारीफ़ की। भिड़े कहता हैं कि टप्पू-सेना ने जो तिकड़ी भूमिकाएँ कीं, वे तारीफ के काबिल हैं।

पोपटलाल कहता है कि बच्चे होने के नाते उन्होंने अपनी भूमिकाओं के बारे में सही जानकारी दी है। अय्यर कहता हैं कि उसे इतिहास के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिला। वो यह कहता है कि स्कूल में उसने जो कुछ भी सीखा था वह सब ताज़ा हो गया।

बापूजी कहते हैं कि अगर किसी व्यक्ति को इतिहास याद है, तो वह व्यक्ति कभी गलती नहीं करेगा।

भिड़े कहता हैं कि अब केवल जेठालाल और पोपटलाल बचे हैं, और कहता हैं कि वह स्पॉटलाइट स्टार्ट करने जा रहा है। जेठालाल कहता हैं कि अब स्पॉटलाइट की कोई जरूरत नहीं है, वह अभी प्रदर्शन करेगा और फिर पोपटलाल प्रदर्शन करेगा।

पोपटलाल और जेठालाल में बहस

पोपटलाल बोलता है कि वह पहले प्रदर्शन करना चाहता है। जेठालाल कहता है कि वह उससे बहस नहीं करना चाहता, और पोपटलाल को प्रदर्शन के लिए जाने के लिए कहता है।

पोपटलाल कहता है कि अब वह नहीं जाना चाहता और जेठालाल को पहले जाने के लिए कहता है।

दोनों बहस करने लगते हैं। भिड़े कहते हैं कि स्पॉटलाइट तय करेगी कि पहले कौन जाएगा। वह स्पॉटलाइट स्टार्ट कर देता है और स्पॉटलाइट पोपटलाल पर रुक जाती है।

भिड़े बताता है कि पोपटलाल को महात्मा गांधी का रोल मिला है। भिड़े, अफ्रीका में महात्मा गांधी के जीवन का परिचय देता हैं और उन्होंने वहां क्या किया इसके बारे में बताता हैं।

यह भी पढ़ें: सुंदरलाल परफॉरमेंस के पहले गायब

पोपटलाल, गांधीजी ने देश के लिए सभी अच्छे कामों के बारे में सभी को जानकारी देता हैं।

भिड़े कहता है कि अब अंत में जेठालाल अपनी भूमिका के साथ मंच पर आएगा। तभी जेठालाल भिड़े को उसके लिए भी स्पॉटलाइट चालू करने के लिए कहता है। भिड़े स्पॉटलाइट चालू करता है और स्पॉटलाइट जेठालाल पर रुक जाती है।

भिड़े बताता है कि जेठालाल को सरदार वल्लभभाई पटेल की भूमिका मिली है। भिड़े कहता हैं कि वह सरदार वल्लभभाई पटेल के बारे में सवाल पूछेगा और जेठालाल उनसे इस तरह से पूछता हैं कि सरदार वल्लभभाई कैसे जवाब देंगे।

जेठालाल अपने रोल को बखूबी दर्शाता है। हर कोई जेठालाल के अभिनय की तारीफ करता है।

बापूजी कहते हैं कि भिड़े ने तैयारी अच्छी तरह से की थी। तारक सभी को बताता है कि उन्हें आसानी से आजादी नहीं मिली है, और बहुत से लोगों ने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है, और हमें सभी का सम्मान करना चाहिए।

भिड़े सभी को बताता है कि उन्होंने कुछ स्वतंत्रता सेनानियों और कुछ देशभक्तों की भूमिका का चित्रण किया है। भिड़े ने यह भी उल्लेख किया कि, वे बहुत से नाम नहीं ले पाए हैं, लेकिन उनकी भी प्रशंसा करेंगे, क्योंकि उन्होंने देश की आजादी के लिए बहुत कुछ किया है।

भिड़े कहता हैं कि अब वे समारोह समाप्त करते हैं, वे सभी नाचेंगे और इस समय का आनंद लेंगे। हर कोई नाचता है। अगले दिन, गोकुलधाम के सदस्य भगवान गणेश को विदाई देते हैं।

एपिसोड समाप्त।

Post a Comment

Previous Post Next Post