Imlie 19th October 2021 Written Update - Imlie Ko Ho Raha Hai Pranav Par Shak EP 292

इमली 19 अक्टूबर 2021 रिटन अपडेट हिंदी में - इमली को हो रहा है प्रणव पर शक 

Imlie-19th-October-2021-Written-Update-Imlie-Ko-Ho-Raha-Hai-Pranav-Par-Shak-EP-292

इमली सीरियल में हमने देखा की कैसे इमली पूजा का कार्यक्रम अच्छे से संभाल लेती है।  मालिनी पर्दो में आग लगा देती है क्योकि उससे आदित्य और इमली को साथ में देखना सहन नहीं होता। 

प्रणव रुपाली की जान बचाता है लेकिन घर में कोई भी प्रणव से बात करने को तैयार नहीं होता। सभी उस पर ये इलज़ाम लगते है की उसने रुपाली की जिंदगी ख़राब कर दी है। 

अब हरीश प्रणव को जाने के लिए कह देता है क्योंकि उनके घर में हर कोई उससे बस नफरत करता है। प्रणव को फोन आता है और वह परेशान होकर घर से बाहर निकल जाता है। 

इमली यह बात नोटिस कर लेती है। रूपाली रोने लगती है, अपर्णा और राधा उसे ढांढस बंधाते है। रूपाली पूछती है कि प्रणव इतने महीनों बाद क्यों लौटा। 

उधर प्रणव को विधायक का फोन आता है वह पेन ड्राइव के बारे में पूछता है। विधायक ने उसे यह काम इसिलए सौंपा है क्योंकि वह आदि का रिश्तेदार हैं और उसकी मदद मांग रहे हैं। 

प्रणव कहता है कि वह पेन ड्राइव कहाँ रखी है जानता है। इमली को देवीमा की मूर्ति में पेन ड्राइव छुपाता देख वह इसे जल्द से जल्द हांसिल करने की बात कहता है। विधायक कहता है कि उसके पास केवल आज रात तक का ही  समय है। 

रूपाली, राधा और अपर्णा से पूछती है कि अब वह क्या करे। राधा कहती है कि वह प्रणव से खुश थी। अपर्णा का मानना है कि हाल की घटनाओं को देखते हुए, सही और गलत का निर्णय करना असंभव है। रूपाली को ही यह तय करना पड़ेगा कि उसको क्या चाहिए। 

प्रणव विधायक से रात में पेन ड्राइव दिलाने का वादा करता है और याद करता है की कैसे इमली ने देवीमा की मूर्ति के पीछे पेन ड्राइव छुपाया था और उसने सभी का ध्यान हटाने के लिए वहां परदा जला दिया था ताकि वह तिवारी फॅमिली में घुस सके। 

प्रणव सोच रहा होता है कि यह काम उसके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इमली सुन लेती है पूछती है की क्या महत्वपूर्ण है। इमली कहती है कि उसने रूपाली की जान बचाई है, इसलिए उसे प्रसाद ले कर यहाँ से चले जाना चाहिए। 

प्रणव हरीश से जाकर मिलता है अनुरोध करता है कि उसे एक बार रूपाली से मिलने दिया जाये। हरीश कहता है कि उसने रूपाली को दूसरी महिला के लिए छोड़ दिया था। इसलिए उस पर कभी भी विश्वास नहीं किया जा सकता। 

मालिनी हरीश से उसे एक मौका देने का अनुरोध करती है। इमली यहाँ पर विरोध करती है। मालिनी कहती है कि रूपाली और प्रणव का अभी तक तलाक नहीं हुआ है, इसलिए उन्हें खुद फैसला लेने दिया जाये। 

आदि इमली का समर्थन करता है और कहता है कि वह नहीं चाहता कि उसकी बहन एक गद्दार पर विश्वास करे और फिर से उसके साथ जाए। मालिनी कहती है कि वह पति और पत्नी के बीच हस्तक्षेप नहीं कर सकते हैं और उन्हें खुद फैसला करने देना चाहिए। 

रूपाली अंदर चली जाती है। प्रणव उसे एक और मौका देने और उस पर भरोसा करने की विनती करता है। रूपाली उसे एक मौका देने के तैयार हो जाती है। आदि उसे कोई भी निर्णय लेने से पहले अच्छी तरह सोचने के लिए कहता है। 

रुपाली कहती है कि वह पहले ही यह तय कर चुकी है। सबका समर्थन हमेशा उसके साथ है। राधा कहती है कि आज का दिन शुभ है क्योंकि उसकी बेटी का जीवन फिर से बस रहा है और सुंदर को आरती थाली लाने के लिए कहता है। 

इमली रूपाली से पूछती है कि क्या वह अपने रिश्ते या विश्वास को पुनर्जीवित करने में कोई जल्दी तो नहीं कर रही।रूपाली कहती है कि उसे लगा था कि इमली उसे समझती है, भले ही दूसरे समझे या नहीं। इमली रुपाली से सॉरी कहती हैं।

रूपाली कहती है कि वह दोनों आत्मा बहन है, पति और पत्नी का रिश्ता विश्वासघात से टूट सकता है लेकिन प्यार नहीं। इसलिए इमली को अपने सुखी वैवाहिक जीवन के लिए प्रार्थना करनी चाहिए। इमली प्राथर्ना करती है, रूपाली उसे गले लगाती है। 

सुंदर आरती की थाली लाता है। राधा, रूपाली और प्रणव की आरती करती हैं, और वे उनका आशीर्वाद लेते हैं। इमली दूर चली जाती है। मालिनी उसका पीछा करती है और कहती है कि पुराने रिश्ते मजबूत हैं और इसे आसानी से नहीं तोड़ा जा सकता। इमली का कहना है कि अगर कोई साथी सही नहीं है, तो यह बंधन से हथकड़ी है और बेहतर है। 

कुछ समय बाद, इम्ली अपने पार्टी पूजा के कपड़े तैयार कर लेती है। हरीश अंदर आ जाता है और उसकी मदद करता है। वह हरीश को उसे गणित पढ़ाने का अनुरोध करती है क्योंकि वह उसकी मदद के बिना पास नहीं हो सकती। हरीश सहमत हो जाता है और उसे कल सुबह कक्षा में पढ़ने के लिए कहता है। 

इमली अपनी पोशाक पर पेंट देखती है और सोचती है कि जब उसने मूर्ति को अलग-अलग कपड़ों में रंगा था तो उसे यह कैसे मिला। उधर प्रणव किचन में हाथ से पेंट साफ़ कर रहा होता है। इमली यह देख लेती है। दूसरी तरफ मालिनी अनु को फोन करती है और उसे बताती है कि रूपाली का पति वापस आ गया है और उसकी जिंदगी बस रही है, लेकिन आदि अभी भी उससे दूर है। अनु का कहना है कि रूपाली नौकर इमली की सबसे बड़ी समर्थक है, इसलिए रूपाली के घर से बाहर होने के बाद, आदि मालिनी का होगा।

यह भी पढ़े 

Post a Comment

Previous Post Next Post