Imlie 20th October Written Update - Imlie Kar Rahi Hai Pranav Ki Jasusi EP 293

इमली 20 अक्टूबर 2021  रिटन अपडेट हिंदी में - इमली कर रही है प्रणव की जासूसी 

Imlie-20th-October-Written-Update-Imlie-Kar-Rahi-Hai-Pranav-Ki-Jasusi-EP-293

इमली में अभी तक आपने देखा की पूजा के समय सब कुछ बहुत बढ़िया से चल रहा था। तिवारी परिवार के सभी सदस्य खुशियां मना रहे थे।  प्रणव की एंट्री होती है, जो सभी को बहुत अजीब लगा की अचानक इतने साल बाद इसको रुपाली की याद आई और किस मुँह से ये रुपाली से माफ़ी मांग रहा है।  

घर में सभी लोग यहाँ तक की रुपाली ने भी प्रणव को उसके आंसू देख के माफ़ कर दिया लेकिन इमली को उसके हाव भाव कुछ सही नहीं लग रहे और उसने जो रुपाली के साथ किया है उसको भुलाया या नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता। 

इमली किचन में आती है वह प्रणव को वहा देख कर चौंक जाती है और पूछती है की वह क्या कर रहा है।  इमली से सवालो से उसकी बोलती बंद हो जाती है।  वह रुपाली के लिए अपने हाथ की सस्पेशल चाय बना रहा है लेकिन इमली को बिलकुल विश्वास नहीं होता। 

तभी वहा राधा आ जाती है और प्रणव को अपने साथ ले जाती है।  प्रणव मन ही मन बचने के भगवान को धन्यवाद् करता है। 

इमली चाय के लिए रखे पानी को सिंक में फेकने जाती है लेकिन उसका ध्यान ही नहीं होता जहाँ प्रणव ने पेंट के हाथ धोये थे। उधर राधा अपने सभी रिश्तेदारों को फ़ोन कर ये बता दिया की रुपाली का घर फिर से बसने जा रहा है।  अपर्णा कहती है की दीदी हमे कोई भी निर्णय लेने में जल्दी नहीं करनी चाहिए।  

रुपाली का वापस घर लौटना तो हम फिर भी बर्दाश्त कर गए लेकिन अगर उसे दुबारा धोखा मिला तो कोई सहन नहीं कर पायेगा। राधा बताती है की रुपाली ने प्रणव को माफ़ कर दिया तो वह कैसे रुपाली की बात नहीं माने। 

राधा कहती है की रुपाली को भी प्रणव के लौटने की उम्मीद थी तभी तो उसने कभी तलाक का नाम भी नहीं लिया था।  मालिनी भी तभी वह पहुँचती है और राधा की बात का सपोर्ट करती है। 

इमली आदित्य के कमरे के बाहर खड़े होकर सोच रही होती है की मै ये बात बोलू की नहीं।  तभी आदित्य पीछे से आकर इमली से बोलता है की मुझसे मिलने में इतना क्या सोच रही हो। वह बात को टालने की कोशिश करती है। आदित्य कहता है की उसे अभी भी उस पर भरोसा नहीं है। इमली कहती है की मैं सोच रही थी की जो मैं कहने आई हु उसे सुन कर आप मुझ पर विश्वास करोगे या नहीं।  

आदित्य कहता है की इमली उसको अभी तक माफ़ नहीं कर पाई और जब भी वह उसके करीब जाने की कोशिश करता है वो कोई भी बहाना बना कर निकल जाती है। इमली कहती है की प्रणव पर उसे विश्वास नहीं होता और जो उसने रुपाली के साथ किया उसके बाद वह रुपाली को प्रणव के साथ नहीं भेज सकती। 

आदित्य कहता है की वह भी प्रणव को पसंद नहीं करता और उसको अपनी आँखों के सामने देखना भी वह बर्दाश्त नहीं कर पा रहा लेकिन किस मुँह से रुपाली से जाकर मना करू क्योकि मै भी तो तुमसे एक मौका मांग रहा हु और प्रणव भी रुपाली से अपने रिश्ते को बचाने के लिए एक मौका मांगने आया है। 

आदित्य इमली से कहता है की वह उससे लड़े झगडे लेकिन चुप न रहे।  इमली कहती है तो तकलीफ आपने हमे दी है वो आप कभी नहीं समझ सकते जब तक कोई आपको वैसे ही धोखा न दे।  मालिनी भरोसे के लायक नहीं है लेकिन आदित्य उसकी बात पर विश्वास नहीं करता। 

इमली कहती है की वह रुपाली को दुबारा दुखी नहीं होने देगी। 

उधर प्रणव मौका देखकर देवी माँ की मूर्ति में पेन ड्राइव ढूंढ रहा होता है की रुपाली से देख लेती है और वह देवी माँ को प्रणाम करने का नाटक करता है।  रुपाली पूछती है की वह यहाँ क्या कर रहा है तो प्रणव कहता है की क्या उसे भरोसा नहीं तो रुपाली कोई जवाब नहीं देती। 

पीछे से इमली आ जाती है और कहती है की भरोसा उस पर होता है जिसको हम जानते है पहचानते है।  रूपाली कहती है की वह तो प्रणव को इतने साल से जानती है।  इमली कहती है की लेकिन भरोसा होने तक और जानो।  रुपाली पूछती है की वो कैसे ? इमली  कहती है की सवाल पूछ कर। 

पुरे परिवार के सामने इमली कहती है की जब तक उसे यह तस्सल्ली न हो जाये की प्रणव भरोसे लायक है तब तक रूपाली को प्रणव के साथ नहीं भेज सकते।  सभी लोग इमली की बात से सहमत होते है। 

इमली रुपाली और प्रणव को कुछ पेपर पकड़ाती है जिसमे उन दोनों को अपने अपने जवाब लिखने होते है।

यह भी पढ़े 

इमली 5 सवाल करती है जिसमे दोनों के एक जवाब होने पर उन्हें 2 न० मिलते।  सवाल जवाब में उन्हें सिर्फ 2 ही न० मिल पाते है जिसके बाद इमली यह शर्त रखती है की जब तक प्रणव पुरे न० नहीं बना लेता यहाँ से रुपाली को लेकर नहीं जा सकता।  मालिनी इस बात का विरोध करती है पर अपर्णा और बाकि लोग सहमत होते है। 

सबके जाने के बाद इमली पेपर जमा कर रही होती है तो प्रणव कहता है की वह चाहे जितना जोर लगा ले लेकिन इस बार वह जीतकर ही रहेगा। 

इमली को दाल में कुछ काला लग रहा है लेकिन वह बात की जड़ तक नहीं पहुंच पा रही। 

उधर प्रणव मन में कहता है की वह विधायक को और इंतज़ार नहीं करा सकता।  जल्द ही पेन ड्राइव का हांसिल करना पड़ेगा। 

क्या इमली पता लगा पायेगी प्रणव की साजिश ? क्या आदित्य पर मंडरा रहा है जान का खतरा ?

देखते है दोस्तों क्या होता है इमली के अगले एपिसोड में !

रॉक एन रोल के साथ बने रहने के लिए धन्यवाद ! 

Post a Comment

Previous Post Next Post