GHKKPM Written Update - Sai Ka Accident EP - 312

गुम है किसी के प्यार में 01 अक्टूबर 2021 लिखित एपिसोड अपडेट - साई का एक्सीडेंट

GHKKPM-Written-Update-Sai-Ka-Accident-EP-312

साईं ने आखिरकार चव्हाण निवास छोड़ दिया

एपिसोड की शुरुआत में, अश्विनी विराट से साईं के माथे में सिंदूर लगाने के लिए कहती है और विराट ऐसा ही करता है। साई भावुक हो जाती हैं और वहां से चली जाती हैं।

भवानी, सम्राट और पाखी को भी ऐसा ही करने के लिए कहती है और फिर पाखी से कहती है कि वह सभी को प्रसाद दे।

देवी साईं की तलाश करती है, और कहती है कि साईं को उससे मिले बिना नहीं जाना चाहिए था। अश्विनी यह सुनकर है पूछती है कि साईं को कहाँ जाना था,  देवी बोलती है कि उसे कॉलेज जाना था।

सम्राट सनी को फैमिली ट्रिप पर भी इनवाइट करता है। सम्राट विराट को घूमने जाने की योजना बनाने के लिए कहता है।

साई भावुक हैं लेकिन अपने फैसले पर कायम रहना चाहती हैं। वह सोचती है कि विराट वास्तव में उसकी परवाह करता है लेकिन उससे प्यार नहीं करता। वह सोचती है कि विराट ने उसे बहुत खुशी दी है।

वह विराट के उपहारों को उसकी दराज में वापस रख देती है। उसे लगता है कि वह विराट को मिस करेगी। और उसकी बुरी यादों को भूलने का फैसला करती है।

यह भी पढ़े: विराट ने साईं से बात करने से किया इनकार

विराट आ कर अपनी दराज खोल कर देखता है और कहता है कि साईं तुमने सब कुछ वापस क्यों दे दिया है। वह पूछता है कि क्या वह उसकी कुछ मदद कर सकता है, साईं उसे कुछ नहीं कहती।

विराट उससे पूछता है कि कल आ गया है, तो उसका क्या प्लान है। फिर साईं कहती है कि उसे उससे नहीं पूछना चाहिए था। इस पर विराट कमरे से बाहर चला जाता हैं। साई उसे अलविदा कहती हैं। विराट भी अलविदा कह देता हैं।

साईं गणपति जी से उसे सही रास्ता दिखाने और शक्ति देने की प्रार्थना करती हैं।

साईं ने देवी को बुलाती है और देवी पूछती है कि क्या वह वास्तव में जा रही है। साईं उसे याद दिलाती है कि यह उसका रहस्य है और फिर देवी साईं को गले लगा लेती है।

अश्विनी ने साई और देवी से पूछा कि वे किस बारे में बात कर रहे हैं?

साई कहते हैं कि देवी पुलकित को याद कर रही है। अश्विनी साईं को कॉलेज से जल्दी वापस आने के लिए कहती है। साईं ने उनके पैर छुए और गले से लगा लिया।

अश्विनी उससे पूछती है कि क्या हुआ। साईं कहती हैं कि वह सिर्फ उनका आशीर्वाद चाहती हैं जैसे उन्होंने पूजा की थी। अश्विनी पूछती है कि वह क्या छुपा रही है। साई की इच्छा है कि वह उसे बता दे लेकिन कहती है कि कुछ भी नहीं है। देवी उसे अलविदा कहती है।

साईं अपना सामान लेकर चव्हाण निवास से बाहर निकल जाती है। वह बहुत भावुक महसूस करती हैं। पुलकित ने उसे फोन किया, लेकिन उसने उसका फोन काट दिया।

साई कैब लेती हैं और विराट के साथ अच्छे और बुरे पलों को याद करती हैं। वह उस अंगूठी को देखती है जो विराट ने उसे दी थी।

साईं के कॉलेज के दोस्त उसे याद करते हैं और सोचते हैं कि क्या उन्हें उससे मिलने जाना चाहिए। फिर वे इसके खिलाफ फैसला करते हैं क्योंकि चव्हाण निवास में पूजा होती है।

क्या साईं की किसी को परवाह नहीं

दूसरी ओर, सभी लोग भोजन करने बैठ जाते हैं। भवानी सभी को बताती हैं कि, पाखी ने सबके लिए खास पकवान बनाए हैं। 

पाखी का कहना है कि उसने मानसी के लिए एएमटीआई बनाई। निनाद खाने के लिए अधीर है और शुरू करने के लिए कहता है। सोनाली का कहना है कि साईं को छोड़कर सभी आए हैं।

करिश्मा कहती है कि पाखी ने खाना तैयार किया है तो साईं आएंगी । पाखी कहती है कि वह उसे बुलाने नहीं जाएगी। विराट कहता हैं कि उसे बुलाने की कोई जरुरत नहीं है।

यह भी पढ़े: साई चव्हाण निवास छोड़ने के लिए तैयार

सम्राट कहता है कि साईं सबसे छोटी है, इसलिए वे इन सभी छोटी-छोटी बातों को अनदेखा कर सकते हैं। पाखी का कहना है कि विराट सही है और वह उसे अब और आने का अनुरोध नहीं करेगी।

देवी को लगता है कि विराट भी पाखी से प्रभावित हुए हैं। वह साईं को खुश रखने के लिए भगवान से प्रार्थना करती है।

साई का एक्सीडेंट

साईं एक बच्चे को अपने माता-पिता के साथ बाइक पर गणेश का मुखौटा पहने हुए देखती है। वह उसकी ओर हाथ हिलाकर बाय करता है, साईं भी अपना हाथ हिलाकर बच्चे को बाय करती हैं ।

उनकी बाइक आगे एक निर्माण स्थल पर गिर जाती है, और माता-पिता घायल हो जाते हैं। बच्चा गड्ढे में गिरने ही वाला होता है, तभी साईं उसे बचा लेती है। लेकिन साई का पैर फिसल जाता है और वह गड्ढे में गिर जाती है, उसका सिर एक रॉड पर जा लगता हैं, और वह बेहोश हो जाती है।

क्या साई और विराट का साथ हमेशा के लिए छूट जाएगा? या ये एक्सीडेंट साई के लिए विराट का मन बदल देगा?

जानने के लिए मिलते है कल।

Post a Comment

Previous Post Next Post