GHKKPM Written Update - Samrat Aur Virat Ke Bich Hui Bahas EP 314

घूम है किसी के प्यार में 04 अक्टूबर 2021 लिखित एपिसोड अपडेट - सम्राट और विराट के बीच हुई बहस

GHKKPM-Written-Update-Samrat-Aur-Virat-Ke-Bich-Hui-Bahas-EP-314

साई के लिए चवण परिवार में आपसमे बहस

एपिसोड की शुरुआत में, भवानी, सम्राट से कहती है कि साईं एक अच्छी इंसान नहीं है और उसे पाखी की खुशी से जलन होती है। अश्विनी का कहना है कि साईं के चले जाने से अब सभी को खुश होना चाहिए।

वही सम्राट, अश्विनी को सांत्वना देता है, जो साई के घर छोड़ कर जाने से बहुत दुःखी हैं

शिवानी कहती है कि भवानी सही कह रही है, क्योंकि साईं ने इस घर में बहुत सारे अपराध किए हैं। वह कहती है कि साई ने सभी को खुश रखने की कोशिश की, उसने अपने ससुर के लिए छात्रवृत्ति के पैसे से हारमोनियम खरीदा, उसने विराट का ट्रांसफर रोक दिया।

शिवानी कहती हैं कि अगर विराट का ट्रांसफर नहीं रुका होता तो विराट और सम्राट में सुलह नहीं होती। वह यह भी कहती है कि, सम्राट को घर वापस लाने के पीछे भी साई ही थी। वह कहती है कि ये बड़े अपराध हैं, लेकिन वह बहुत से छोटे अपराधों की गिनती कर सकती है।

भवानी बोलती है कि जैसे ही कोई साईं के बारे में कुछ भी कहता है, शिवानी गुस्सा हो जाती है। शिवानी कहती हैं कि वे सभी साईं की गलतियों को देखते हैं। विराट ताना मारते हुए कहता हैं कि, शिवानी के मुताबिक साईं ने कभी कोई गलती नहीं की।

शिवानी उसे एक उदाहरण बताने के लिए कहती है जहां गलती केवल साईं की थी किसी और की नहीं। अश्विनी उन्हें चुप रहने और साईं को खोजने की कोशिश करने के लिए कहती है।

वही दूसरी तरफ - पुलकित, साईं के डॉक्टर से बात करता है। डॉक्टर उसे बताता है कि साई गंभीर रूप से घायल है।

अश्विनी, विराट से साई के जाने का जश्न मनाने के लिए मिठाई लाने को कह कर ताना मारती है। सम्राट उसे सांत्वना देता है और कहता है कि वे साईं को ढूंढ लेंगे। निनाद कहता है कि वह सिर्फ उसे उकसा रही है।

यह भी पढ़े: साई से मिलने के लिए विराट ने किया इन्कार - क्या वो अलग हो जाएंगे?

सम्राट कहता है कि साई के जाने से अश्विनी दुखी है, लेकिन वह नहीं चाहता कि दूसरे जश्न मनाएं। सम्राट, विराट को अपने साथ आने के लिए कहता है लेकिन विराट मना कर देता है। विराट कहता है कि साईं ने वही किया जो वह करना चाहती थीं।

विराट कहता  है कि सभी ने इस घर में साईं सभी के साथ घुल मिल जाए इसके लिए हर संभव कोशिश की है, लेकिन साई उनकी किसी भी कोशिश को नहीं देखना चाहतीं। वह कहता है कि यह अच्छा ही हुआ है कि वह चली गई, और सभी साई को जहां चाहें वहां रहने दें।

सम्राट और विराट के बीच हुई बहस

सम्राट कहता है कि विराट उसके साथ रहने के बावजूद भी साई को समझ नहीं पाए। वह पूछता है कि क्या विराट जानता है कि साई ने यह परिवार क्यों छोड़ा। सम्राट का कहना है कि उसने कभी उम्मीद नहीं की थी कि साई उनकी लड़ाई के कारण चली जायेगी।

सम्राट कहता है कि वह साईं के कारण ही इस घर में वापस आया था, और वह कभी वापस नहीं आता अगर साई ने उसे बहुत सी चीजें याद ना दिलाई होती जो वह भूल गया था। वो कहता है कि अगर साईं यहां नहीं हैं, तो वह इस घर में नहीं रह सकता।

पाखी, सम्राट को याद दिलाती है कि वह उसकी पत्नी है और वह उसका अपमान कर रहा है। वह पूछती है कि क्या उनका रिश्ता इस घर में साई के रहने पर निर्भर करता है।

सम्राट कहता है कि उसे यह स्वीकार करना होगा कि साईं ने ही उनके रिश्ते को संभव बनाया है। निनाद, ओंकार, सोनाली कहते है कि पाखी, साईं के जाने के लिए जिम्मेदार नहीं हैं, और अगर साई नहीं चाहती हैं, तो वे साई को रहने के लिए मजबूर नहीं कर सकते।

यह भी पढ़े: साईं को खोने के डर से आंसू बहाता विराट

सम्राट उनसे पूछता है कि क्या साईं ने कभी उनका भला नहीं किया। वह विराट से पूछते हैं कि क्या साईं के बारे में इन सभी कड़वे शब्दों काउस पर असर नहीं होता है।

विराट, सम्राट से कहता है, उससे कुछ मत पूछो और कहता है कि वह अब साईं से बात नहीं करना चाहता। सम्राट कहता है कि अगर विराट खुश है कि साई ने उसे छोड़ दिया है, और अगर पाखी उसकी खुशी का कारण है।

यह सुनकर विराट और पाखी हैरान रह जाते हैं।

सम्राट कहता है कि साईं चाहती थी कि वह और पाखी अपने जीवन को नए सिरे से शुरू करें, लेकिन विराट क्या चाहता था।

विराटकहता हैं किउसके और पाखी के बीच कुछ भी नहीं है। उसका कहना है कि कई लोगों ने साईं के लिए उनकी भावनाओं को गलत समझा है, यहां तक ​​कि खुद साईं को भी हमेशा यही लगता था।

शिवानी कहती है कि यह अच्छा है कि साईं चली गयी है और सम्राट को भी महाबलेश्वर वापस चले जाना चाहिए।

विराट कहता हैं किउसने क्या गलत किया है। भवानी, शिवानी से कहती है कि साईं की गलतियों के लिए विराट को दोष न दें। ओंकार कहते हैं कि विराट क्या कर सकते थे अगर साईं ने कभी कुछ नहीं कहा।

सम्राट, विराट से पूछता है कि क्या उसने कभी साईं को अपनी भावनाओं के बारे में बताया। विराट कहता हैं कि वह एक ट्रांसफर लेना चाहता हैं और चला जाना चाहता हैं।

सम्राट उसे धक्का देता है तो विराट कहता है कि अगर सम्राट चाहता है कि वह आत्महत्या कर ले। पाखी, विराट से कहती है कि वह दोबारा कभी ऐसे शब्द न बोले। यह सुन्न कर हर कोई हैरान रह जाता है।

एपिसोड समाप्त।

घूम है किसीके प्यार में के आने वाले एपिसोड्स में और क्या नया ड्रामा होने वाला है, जानने के लिए मिलते है अगले एपिसोड के साथ

Post a Comment

Previous Post Next Post