Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein 18 October 2021 Written Update – Samrat Ne Pakhi Ki Sacchai Bataai

Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein 18 October 2021 written update – Samrat Ne Pakhi Ki Sachai Bataai

कल के एपिसोड में हमने देखा की डॉ. अंजली साईं से पूछती है की क्या वो विराट को अपने जीवन में चाहती है या नहीं?

डॉ. अंजली कहती हैं की साईं को अपने आप को थोड़ा समय देना चाहिए और उन लोगो के बारे में सोचना चाहिए जो उससे प्यार करते है।

साईं - अश्विनी, सम्राट, शिवानी और विराट को याद करती है और साथ ही रोते-रोते आखिर बोल पड़ती है।

वहीँ सम्राट पाखी को पुछता है की वो हर बात में विराट को क्यों लेकर आती है। जहाँ पाखी, विराट और साईं के पास आने से बहुत दुःखी है, वो सम्राट को बहुत ही परिपक्क बताती है और विराट से दूर रहने की बात करती है।

सम्राट पाखी को बताता है की वो अब भी विराट से प्यार करती है और उसे इस सच्चाई को स्विकार कर लेना चाहिए।

सभी लोग डॉ. अंजली को साईं की मदद करने के लिए उसे धन्यवाद करते है और साईं विराट से कहती हैं कि वो उसके तानो से थाक गया होगा।

विराट कहता है की साईं के ताने अब उसके लिए संगीत बन गए हैं, अब आगे…

Ghum-Hai-Kisikey-Pyaar-Mein-18-October-2021-Written-Update

गुम है किसी के प्यार में 18 अक्टूबर 2021 रिटन अपडेट - सम्राट ने पाखी की सच्चाई बताई

एपिसोड की शुरुआत में, पाखी सम्राट से कहती है कि उनकी शादी उसके जीवन की सच्चाई है। पाखी सम्राट से कहती है कि वह गलत है कि वह अब भी विराट से प्यार करती है।

सम्राट कहता है कि वह इस सच्चाई से इनकार नहीं कर सकती क्योंकि वह सब कुछ जानता है, लेकिन वह विराट की वजह से चुप है, क्यूँकि विराट उसका छोटा भाई हैं।

यह भी पढ़े: सम्राट पाखी के रिश्ते का अंत

सम्राट कहता है कि उसने उसे अपने जीवन में फिर से आने दिया और उसने स्थिति को वैसे ही स्वीकार कर लिया। वह कहता है कि पाखी यह दिखाने की कोशिश कर रही है कि वह उससे प्यार करती है, लेकिन प्यार जबरदस्ती नहीं होता है।

सम्राट उसे बताता है कि वह विराट के जीवन में हस्तक्षेप नहीं कर सकती, क्योंकि उसके ऐसा करने से सभी का जीवन प्रभावित होता हैं।

सम्राट उससे कहता है कि वह साईं को फिर से चोट नहीं पोहोचाने देगा। पाखी कहती है कि वह साईं की चोट देख सकता हैं, लेकिन उसकी नहीं। सम्राट पूछता है कि उसे चोट क्यों लगी है।

पाखी कहती है कि उसका जीवन बिखर गया है, लेकिन अब जब वह अपने जीवन को फिर से बनाने की कोशिश कर रही है, तो उसे उस पर भरोसा नहीं है।

सम्राट कहता है कि पाखी एक छोटे बच्चे की तरह व्यहार कर रही है, जो अपने पसंद का खिलौना न मिलने पर किसी भी खिलोने से काम चलना चाहती है।

सम्राट पाखी को उसकी सच्चाई बताता है और कहता है, की पाखी उसे विराट से सिर्फ बदलना चाहती है, की अगर विराट नहीं तो सम्राट ही सही। वह उससे अनुरोध करता है कि साईं को खुश रहने दें क्योंकि अगर वह खुश नहीं रहती है तो घर के दूसरे लोगो भी खुश नहीं होंगे।

सम्राट पाखी को यह भी कहता है की उसके लिए सिर्फ उसके घर की खुशियाँ सबसे आगे और और पाखी को उनकी खुशियों का दुश्मन नहीं बनना चाहिए, यह सुन कर पाखी हैरान रह जाती है और सम्राट कमरा छोड़ कर बहार चला जाता है।

यह भी पढ़े: सम्राट ने चव्हाण निवास छोडने का फैसला किया

वहीँ हस्पताल में अश्विनी विराट से कहती है कि वह साईं को कुछ खिलाए और उसे ज्यादा परेशान न करे। देवी साईं को विराट के फोन पर कॉल करती है। वह बताती है कि वह अस्पताल जाना चाहती थी, लेकिन पुलकित ने कहा कि जब साई पूरी तरह से ठीक हो जाएगी तो वह उसे ले जाएगा।

साईं उससे कहता है कि ठीक होने पर वह उससे मिलने आएगी। विराट देवी से कहता है कि साईं ने अभी तक लंच नहीं किया है, इसलिए वह अब फोन रख कर साई को खाना खिला देगा।

साईं विराट से पूछती है कि क्या उसे अस्पताल में हमेशा भर्ती होना चाहिए, ताकि विराट उससे अच्छे से बात करे। इसके जवाब में विराट साई से पूछता है कि जब भी वह उसके साथ अच्छा व्यव्हार करता है, तो वह उसे उसके बुरे व्यवहार की याद क्यों दिलाती है।

साईं कहती हैं कि वह उससे कुछ नहीं कहेगी और चुप रहेगी। विराट उससे कहता है कि खाने के लिए मुँह फूलने की नहीं बल्कि मुँह खोलने की ज़रूरत होती है।

फिर विराट साई से कहता है कि अगर उसे नहीं खाना तो ठीक है, वह एक छिपकली को खाना खिला देगा है। यह सुनते ही साई डर के मारे विराट से पूछती है की कहाँ है छिपकली और तभी विराट साई के मुँह में खाना डाल देता हैं।

साईं कहती है कि वह उसके लिए नहीं बल्कि अश्विनी के लिए खा रही है, क्योंकि उसने बहुत ही स्वादिष्ट खाना बनाया है, विराट मुस्कुराता है और साई को खाना खिलाता हैं।

वहीँ पुलकित डॉ. अंजली को साईं की मदद करने के लिए धन्यवाद करता है, और वहीँ खड़ी अश्विनी अंजली से अनुरोध करती है कि क्या वह उससे अकेले बात कर सकती है।

फिर डॉ. अंजली और अश्विनी दोनों ही अंजली के केबिन में जाते हैं।

अश्विनी फिर से एक बार डॉ. को धन्यवाद करती है और अनुरोध करती है कि वह उसे बताए कि साई विराट के लिए क्या सोचती है।

अंजली उसे बताती है कि साईं ने इतने छोटे जीवन में बहुत सी कठिनाइयां देखी हैं, लेकिन वह एक बहुत ही मजबूत लड़की है जो हर परिस्तिथि का सामना कर सकती है।

अश्विनी कहती हैं कि साई को घर में सबकी परवाह है, लेकिन वह विराट से उस तरह कनेक्ट नहीं हो पाईं जैसे एक पति पत्नी होते है। अंजली कहती है कि साई विराट के अतीत से प्रभावित हैं।

अश्विनी कहती है कि यह सब अतीत की बात है और विराट उसे बहुत प्यार करता हैं।अंजली कहती है कि उन्हें लगता है कि विराट साईं के लिए भी सबसे ज्यादा मायने रखता है।

अंजली कहती है कि वे दोनों एक साथ रहना चाहते हैं, लेकिन जब वे एक साथ होते हैं तो किसी तरह घुटन महसूस करते है।

वह कहती हैं कि जब दो लोगों को एक साथ रहने के लिए मजबूर किया जाता है, तो उन्हें घुटन महसूस होती है, लेकिन ऐसे लोगों को अपनी समस्याओं का हल खुद ही निकलना पड़ता हैं

डॉ. अंजली कहती हैं कि अगर वे दोनों दोस्त बन गए तो उनकी कड़वाहट दूर हो जाएगी।

वहीँ चवण निवास में पूरा परिवार गणपति से प्रार्थना करता है। निनाद भी साईं की वापसी के लिए प्रार्थना करता है। सोनाली और करिश्मा उसे ताना मारते है कि साई खुद वापस नहीं आना चाहती, क्योंकि वह स्वेच्छा से घर से निकली थी।

तभी पाखी कहती है कि उन्होंने नहीं देखा कि विराट साई की देखभाल कैसे कर रहा था, और अगर विराट साई को वापस आने के लिए कहेगा तो वह वापस आ जाएंगी।

सम्राट कहता है कि यह साई का अपना घर है, इस पर ओंकार कहता हैं तो फिर वह चोरों की तरह बिना किसी को बताये घर छोड़ कर क्यों भागी थी।

वहीँ हस्पताल में अश्विनी अंजली को उसकी सलाह के लिए धन्यवाद देती है और कहती है कि वह जानती है कि साई के वापस आने पर अब क्या करना है।

यह भी पढ़े: अश्विनी ने विराट और साईं को किया अलग

अंजलि उसे ध्यान रखने के लिए कहती है। अश्विनी भगवान से साई और विराट को सही रास्ता दिखाने की प्रार्थना करती हैं।

उधर, डॉक्टर साई से पूछता हैं कि वह कैसी है और क्या वह छुट्टी पाना चाहती है। साईं इस बात को लेकर असमंजस में पड़ जाती हैं कि डिस्चार्ज होने के बाद वह कहां जाएंगी। डॉक्टर कहता है कि वह अपने घर जा सकती है। साई बोलती है कि वह उसका घर नहीं है।

पुलकित डॉक्टर को उससे बात करने के लिए कहता है। तभी विराट साई से कहता है कि वह पुलकित और देवी के साथ रह सकती है, और जब उसका मन करे वापस घर आ सकती है।

साई कहती है कि वह कोई शटलकॉक नहीं है जो इधर-उधर घूमती रहेगी।

एपिसोड समाप्त

क्या साई अपने घर वापस जाएगी?

अपने विचार प्लीज नीचे कमैंट्स में बातये।

ऐसे ही रोमांचक उपडटेस के लिए बने रहें केवल rocknroll.in पर..

यह भी पढ़े: भवानी ने हाथ जोड़ कर साई से घर लौटने की बिनती की

Post a Comment

Previous Post Next Post