Udaariyaan 13th October Written Update - Tejo Hui Giraftaar EP 183

उडारियाँ 13 अक्टूबर 2021 रिटन अपडेट हिंदी में - तेजो हुई गिरफ्तार 

Udaariyaan-13th-October-Written-Update-Tejo-Hui-Giraftaar-EP-183.

तेजो किचन में गुरप्रीत से कहती है की सिमरन दी का साथ दो, वह सब कुछ बताएगी, बस आप मुझसे वादा कीजिये की आप उन्हें गलत नहीं समझोगे। आप परेशान मत होइए वह किन मुसीबतों के साथ जी रही थी हममे से  कोई नहीं जानता और जब खुशी के दिन आए तो आप बस उसे हिम्मत देना। 

उधर सिमरन खुशबीर जी से कहती है सॉरी पापा जी, मैंने आपका दिल दुखाया है और मुझे उसकी सजा भी मिली है। गुरप्रीत तेजो को बताती है कि सिमरन अपने पापा की पसंदीदा थी। उनकी पहली कंजक थी, उसे बिना खिलाये कभी व्रत नहीं खोलते थे। बस भगवान करे उनको वह पुराना समय याद आ जाये।

खुशबीर जी कहते हैं कि तुमने एक पिता के प्यार को सम्मान नहीं दिया और परिवार के मान की रक्षा नहीं की।बेटियाँ तुम्हारे जैसी नहीं होती, वे तेजो की तरह होती हैं। उसने ऐसे घर के लिए  भी बहुत कुछ किया है जहा कभी वह अपमानित और परेशान रही हो। मैं उससे नाराज़ हूं लेकिन उसने अपना कर्तव्य निभाया है उसने मेरा सर झुकने नहीं दिया कभी। 

तेजो ने एक माँ की इच्छा पूरी किया है। और तुम स्वार्थी हो, तुम्हें माता-पिता के प्यार और परिवार के गौरव की परवाह नहीं है। तेजो गुरप्रीत से कहती हैं कि आज आप भोग लगाओगे  क्योकि आपका पहली कंजक वापस आ गई है। 

गुरप्रीत तेजो से वादा लेती है कि तुम मुझे आज से मम्मी जी बुलाओगी , आंटी जी नहीं। तेजो की आँखों में ख़ुशी आंसू आ गए थे और उसे गले लगा लिया। गुरप्रीत कहती हैं आज से मेरी तीन बेटियां हैं और माता रानी को भोग आज तुम लगाओगी।

खुशबीर जी कहते है कि छह साल पहले मेरी दो बेटियां हैं और आज भी मेरी दो बेटियां हैं, तेजो और माही। सिमरन खड़े हुए रोये जा रही थी।  खुशबीर जी कहते है की तुम्हारे ये आंसू तुम्हारी मां को प्रभावित कर सकते हैं मुझे नहीं।  मैंने तुम्हें कैंडी की वजह से यहां रहने दिया है, वह मेरा खून है, मै नहीं चाहता की तुम्हारे कर्मों की सजा उसको मिले। मैं तुम्हें कभी माफ नहीं करूंगा। सिमरन रोती हुई चली जाती है।

तेजो माता रानी को भोग लगाती है। सभी लोग प्रार्थना करते है। सिमरन रोते हुए सोफे पे आके बैठती है। सब पूछते है उसको की कि क्या हुआ। सिमरन कहती है कि पापाजी ने मुझे माफ नहीं किया, वह अभी भी मुझ से नाराज़ है। 

तेजो कहती है कि दी वह मुझसे भी नाराज है थोड़ा टाइम दो वह हमें माफ कर देगे। सिमरन कहती है कि वह तुम्हें माफ कर देगे पर मुझे नहीं, मैं तुम्हारी तरह अच्छी बेटी नहीं हूं। फतेह आता है और पूछता है कि क्या हुआ। 

गुरप्रीत कहती है कि वह तुम्हारे पिता की बातों से दुखी हो कर रो रही है। फतेह माही और अमरीक को इशारे से बुलाता है। फतेह पूछता है क्यों, तुम सिर्फ पापाजी की ही परवाह करते हो न दीदी। माही बोलती है कि यह समय  आंसु बहाने का नहीं है, यह तो खुशियां मनाने का समय है। 

यह भी पढ़े - जैस्मिन ने क्यों डलवाया तेजो को जेल में

यह भी पढ़े - कैंडी ने पलटा जैस्मिन का गेम 

 यह भी पढ़े - क्यों किया तेजो ने जैस्मिन को ब्लैकमेल 

वे सभी गले मिलते हैं, कूदते हैं और गाते हैं। माही तेजो को खींच लेती है। सिमरन हस्ती है। फतेह ख़ुशी में तेजो को गले लगाने लगता है तेजो फ़तेह का हाथ अपने कंधे से हटाती है, फ़तेह तेजो को देखता हैं। जैस्मीन दूर से, फ़तेह और तेजो को साथ में देख लेती है। 

जैस्मीन दौड़ते हुए अपने कमरे में जाती है और सब सामान इधर उधर फेकती है, बोलती है कि मैं तेजो को इस घर से बाहर कर दूंगी, कसम से। तभी फतेह के फोन पर एक निवेशक की कॉल आता है।

वह कहती है हां जी मैं तेजो विर्क बोल रही हूँ, आप सुबह अकादमी में आ जाइये कह कर फ़ोन रख है और  ख़ुशी से कहती है कि तेजो मैंने तेरे लिए व्यवस्था कर दी है। 

जैस्मीन फटाफट तैयार हो के अकादमी पहुंच जाती है, और उन लोगो के सामने एक दम भोली बन जाती है। कहती है क्या, तेजो ने आपको यहाँ बुलाया है, उसने भुगतान नहीं किया, मुझे कुछ नही पता मैं यहाँ नयी हूँ। निवेशक चिल्लाता है और कहता है कि मैंने इस अकादमी में निवेश किया है, मुझे अपने पैसे टाइम से चाहिए। वह फाइल दिखा कर कहती है कि यहाँ तो सब सत्यानाश हुआ है देखो कोई बिल पास नहीं किया तेजो ने और आयकर भी नहीं दिया। फिर वो कहती है की बस एक ही रास्ता है, निवेशक पूछता है की क्या रास्ता है?

उधर तेजो और बाकि सब घर वाले बैठ कर कंजक की तैयारी में लगे होते है। गुरप्रीत कहती है कि अब तो हमारे घर में भी एक लड़का है, कैंडी। सिमरन बोलती है कि कैंडी के लिए सब नया है और वह बहुत खुश भी है। बीजी कहते हैं कि उसकी मामी उसे सब कुछ सिखा देगी और उसे होशियार भी बना देगी। 

तेजो बीजी से कहती हैं कि मैं उसकी मामी नहीं हूं, हाँ मैं उसकी मासी जरूर बन सकती हूं। निम्मो कहती है कि जैस्मीन ने हमारे जीवन और संबंधों को बिलकुल खराब कर दिया है, है कहां वो लड़की। माही कहती है कि शायद वह एकेडमी गई है, मैंने उसे जाते हुए देखा था। 

निम्मो का कहती है कि वह आलसी है एक नंबर की, वह अकादमी चली गई जब हमने उसे नाश्ता बनाने के लिए कहा। उधर जैस्मीन कहती है कि तेजो सारा काम संभालती है, वह फतेह की पत्नी है, आप फाइलों की जांच कर सकते हैं, इसमें सिर्फ तेजो के हस्ताक्षर हैं। वह निवेशक फतेह के शब्दों को याद करता है जो उसने कभी तेजो के लिए कहे थे ।

तेजो हुई गिरफ्तार

घर में ख़ुशी का माहौल होता है,  पुलिस खुशबीर के घर आ जाती है। इंस्पेक्टर पूछता है कि तेजो विर्क कौन है उन को बुलाओ। हर कोई देखता रह जाता है। खुशबीर पूछता है कि क्या हुआ इंस्पेक्टर साब,वह कहता है कि हमारे पास उसके नाम पर गिरफ्तारी वारंट है। सब लोग चौंक जाते हैं। 

खुशबीर कहता है कि क्या आपका दिमाग खराब हो गया है, ये मत भूलो की तुम मेरे घर में खड़े हो। तेजो मेरी बहू है, बेटी और इज्जत है वह कहीं नहीं जाएगी। बिजी पूछती है कि लेकिन उसने क्या किया। इंस्पेक्टर बताता है कि उसने अकादमी में निवेशको का पैसा वापस नहीं किया और उनका हिस्सा भी नहीं दिया। 

गुरप्रीत कहती है कि वह ऐसा नहीं कर सकती। इंस्पेक्टर बोलता है कि जिन लोगों ने अकादमी में निवेश किया है, उन्होंने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज की है, हमें तेजो को आज ही अदालत में पेश करना है, हमारे पास गिरफ्तारी का वारंट है। तेजो खुशबीर जी को कहती हैं पापाजी आप गुस्सा मत करो, आपकी तबियत भी ठीक नहीं है उन्हें अपना कर्तव्य करने दो।  निवेशकों को हो सकता कोई गलतफहमी हुई हो आप मुझे जाने दो। उसे महिला पुलिस अधिकारी द्वारा हाथ पकड़ के खींचा जाता है। हर कोई तेजो के पीछे जाता है।

खुशबीर किसी को बुलाता है। जैस्मीन कहती है कि तेजो को अब तक गिरफ्तार कर लिया होगा। मैं नहीं चाहती  कि फतेह को कुछ पता चले, तेजो को जेल में सड़ना चाहिए। तभी फतेह अपना फोन ढूंढते हुए वहा आता है। वह उसका फ़ोन लैपटॉप के अंदर छुपा देती है। फ़तेह को अपनी बातों के जाल में फ़साने की कोशिश करती है। वह कहता है कि मैं काम कर रहा हूं। 

जैस्मिन फ़तेह को कनाडा योजना के बारे में पूछती है। फ़तेह कह देता है की अभी 6 महीने के लिए भूल जाओ जब तक मेरा और तेजो का तलाक नहीं हो जाता।  उधर खुशबीर जी फ़तेह  मिलाते है और वह लगता नहीं है वह मन ही मन कहते है कि ये सब फतेह और जैस्मीन की लापरवाही का नतीजा है जो मेरी तेजो को भुगतना पड़ रहा है। 

फतेह अपना मेरा फोन ढूंढ ही रहा होता है की चपरासी आकर फोन देकर कहता है कि आपके लिए एक कॉल है। फतेह कहता है की क्या, पुलिस ने तेजो को अकादमी के काम की वजह से गिरफ्तार कर लिया है। जैस्मीन पूछती है कि कहाँ जा रहे हो, तेजो पहले अकैडमी संभालती थी न तो कुछ कर दिया होगा उल्टा सीधा। वह उसे चुप रहने के लिए कह कर चला जाता है। जैस्मिन बड़बड़ाती है कि इस बार तेजो को बचाना तुम्हारे हाथ में नहीं है फ़तेह।

इंस्पेक्टर खुशबीर जी को घर जाने के लिए कहता है, की आपके वकील को आने दो अब वही बात करेंगे। खुशबीर पूछता है कि आप एक निर्दोष व्यक्ति को कैसे गिरफ्तार कर सकते हैं। सिमरन गुरप्रीत को सांत्वना देती है। वह कहती है कि तेजो बहादुर है। अभिराज, रूपी और सत्ती भी पुलिस थाने पहुंचते हैं और खुशबीर से पूछते हैं कि क्या चल रहा है, अगर अकादमी उसकी है, तो तेजो जेल में क्या कर रही है। 

फतेह और जैस्मीन भी वह आ जाते हैं। फतेह कहता हैं की पापा आप चिंता मत करो, मैं जाकर देखता हूं, पापा आप घर जाकर आराम करो। अभिराज जैस्मीन को अंदर जाने से रोकता है। रुपी उससे पूछता है कि क्या तुने तो कुछ नहीं किया न अगर किया है तो बोल दे मुझे। तेजो लॉकअप में होती है। फतेह इंस्पेक्टर से बात करके सब समझाने की कोशिश करता है। 

जैस्मीन कहती है कि तुम लोग हमेशा मुझे ही दोष क्यों देते हो, मुझे हिसाब नहीं पता, तेजो इसे संभालती था। और वैसे भी मेरा गणित खराब है, लेकिन क्या तेजो कभी-कभी गलत नहीं हो सकती। खुशबीर का वकील आ जाता है। खुशबीर कहता है की कुछ भी करो मेरी तेजो की जमानत करा दो, मेरी बेटी जेल में है।

वकील इंस्पेक्टर से मिलने जाता है। गुरप्रीत और बिजी तेजो के लिए प्रार्थना करते हैं। खुशबीर रुपी और सत्ती के साथ घर पहुँचता है। गुरप्रीत पूछती है कि क्या तेजो वापस आएगो। सत्ती कहती है कि हमें तेजो को बचाने के लिए हमे माता रानी से प्रार्थना करनी चाहिए। जैस्मीन पीछे खड़ी मुस्कुराती है और सोचती है कि जितना चाहे प्रार्थना कर लो। तेजो को तो जेल में ही रहना पड़ेगा, मुझे से दूर रहेगी।

रॉक एन रोल के साथ बने रहने के लिए धन्यवाद् !!

Post a Comment

Previous Post Next Post