Udaariyaan 15th October 2021 Written Update - Kya Ab Bhi Pyar Hai Tejo Fateh Me EP 185

उडारियाँ 15 अक्टूबर 2021 रिटन अपडेट हिंदी में - क्या अभी प्यार है तेजो -फ़तेह के बीच  

Udaariyaan-15th-October-2021-Written-Update-Kya-Ab-Bhi-Pyar-Hai-Tejo-Fateh-Me-EP-185

दोस्तों उडारियाँ में अभी तक हमने देखा की कैसे जैस्मिन ने चलाकी दिखते हुए तेजो को फ़साने का जाल बिछाया था। जिससे वो और फ़तेह आराम से व्रिक हाउस में रह सके। 

फ़तेह को जहा तक हम सभी जानते है की वह तेजो के लिए कभी बुरा नहीं सोच सकता।  जैस्मिन कितना भी कोशिश कर ले तेजो से दूर रखने की फ़तेह को कहीं न कहीं , कभी न कभी तेजो की जरुरत महसूस हो ही जाती है।  

अभी सिमरन के केस में ही देख लो, जो कोई नहीं कर पाया वो तेजो ने कर भी दिखाया।  अभी बेशक खुशबीर जी थोड़े नाराज़ है लेकिन समय सारे घाव भर देता है। 

तेजो को जेल में देख फ़तेह से रहा नहीं गया और वह मसीहा बन के तेजो के सामने आया।  सारे इलज़ाम जो तेजो पर लगे थे वे सभी  अपने सर ले लिए और तेजो को रिहा करा दिया। 

तेजो को फ़तेह का ये कदम समझ नहीं आया और उसे ऐसा नहीं करने की बात भी कह देती है।  फ़तेह के अनुसार तेजो अभी भी  उनके खानदान की  बहु है और घर की इज़्ज़त भी तो उसके जेल में रहने से अच्छा है की फ़तेह ये जुर्म अपने सर ले ले। 

ऐसा लगता है अभी भी कहीं न कहीं फ़तेह के दिल में तेजो की स्पेशल जगह है और उसको यह पता चलने की देर है की वह जैस्मिन से नहीं बल्कि तेजो से प्यार करता है। 

जैस्मिन को अभी भी चैन नहीं मिला जब उसका पासा उल्टा पड़ गया और तेजो के बदले फ़तेह को जेल हो गई।

यह भी पढ़े - फ़तेह बना मसीहा 

अब वह तेजो के पीछे लगी है और उस पर बेतुके इलज़ाम लागए जा रही है। फ़तेह जेल में है इसकी भी वजह तेजो को बनाया जा रहा है।  तेजो अभी भी फ़तेह की पत्नी है तो उसको जैस्मिन से ज्यादा फ़तेह की फ़िक्र है ये जानने के बाद जैस्मिन  आग बबूला हो जाती है और कहती है की सारा क्रेडिट  तुम ही ले जाओगी और फ़तेह से भी यही कहोगी की जैस्मिन ने कुछ नहीं किया।  तेजो कहती है की मुझे जो करना है वो मैं करके रहूंगी अगर तुझे सोने नहीं जाना तो उसके लिए भगवन से प्रार्थना करो और वो भी नहीं कर सकती तो यहाँ से जा कह कर उसे अपने कमरे'से निकल देती है। 

उधर खुशबीर जी कंजक बिठाते है और कैंडी को खूब सारा प्यार करते है। घर में सभी कैंडी को देख के खुश है। तेजो  प्रेसन्टेशन बना कर निवेशकों से मिलने के लिए निकल जाती है। गुरप्रीत माता रानी से प्रार्थना कर तेजो को मीटिंग में सफल होने का आशीर्वाद देती है।

यह भी पढ़े - तेजो हुई गिरफ्तार 

तेजो निवेशको से मिलती है।  पिछले 6 महीने का सारा ब्यौरा देती है कितना प्रॉफिट हुआ कितनी इनकम आई।  कितना पैसा वेंडर्स को डिस्ट्रीब्यूट किया। निवेशक थोड़े प्रभावित होते है। तेजो बताती है की वह कैसे उनकी रकम वापिस करेगी। निवेशक कहता है की आपकी योजना तो अच्छी है लेकिन हम ये ये कैसे माने की फ़तेह ये सब करेगा। तेजो कहती है की वह इस प्लान पर जरूर  करेगा आप मेरा भरोसा करिये। 

जैस्मीन फतेह से मिलने जाती है और सिमरन और माहि भी साथ आने के लिए कहती है। उधर तेजो फतेह से मिलने जेल पहुँचती है और फ़तेह को पेपर दिखाती है की अगर आप साइन कर दोगे तो तुम्हे छोड़ दिया जायेगा। 

जैस्मीन, सिमरन और माही थाने आते हैं। और वह देखते है की तेजो निवेशकों के साथ खड़ी है और उन्हें धन्यवाद् करती है तभी फतेह भी रिहा हो कर बाहर आता है। सिमरन कहती है कि तेजो ने फतेह को मुक्त कर दिया।

यह भी पढ़े - तेजो की हुई जीत, जैस्मिन का बना मुर्गा 

जैस्मीन सोचती है कि तेजो ने ऐसी साथ क्या डील की है जिससे फतेह जेल से बाहर निकल आया। वह दौड़ कर उसे गले लगाती है। वह कहती है भगवान का शुक्र है, तुम ठीक हो। इतने लोग वहां आते हैं और फतेह के  विरोध में नारे लगाते हैं।

वे सभी उसे और उसकी पत्नी को भी धोखा देने के लिए डांटते थे। एक छोटी बच्ची फ़तेह की तस्वीर फाड़ देती है और कहती है कि तुम अब मेरे हीरो नहीं हो, तुम बुरे हो। 

जैस्मीन मौके का फायदा उठा के फ़तेह  सामने अच्छा दिखने की कोशिश करती है। वह उन लोगो को रुकने और फतेह पर हमला नहीं करने के लिए कहती है। वे उस पर भी टमाटर से हमला करते हैं। 

फतेह घर आ जाता हैं। गुरप्रीत उसे गले लगा कर रोती है। बीजी कहते हैं की माता रानी ने हमारी सुन ली और फ़तेह को वापस घर भेज दिया। फ़तेह तेजो को भी धन्यवाद देने के लिए कहता है। बीजी कहती है हाँ, वह तो हमारी सभी समस्याओं का समाधान करती है।

कैंडी सबसे कहता है चलो मुझे बहुत जोर से भूख लग रही है। फतेह नहा कर आता है और कंजक को प्रशाद खिलाते है। खुशबीर तेजो से पूछते हैं कि निवेशक कैसे बात मान गए तेरी। तेजो फाइल दिखती है।  खुशबीर फाइल देखता है और कहता है कि आप जानते हो ना कि इसमें क्या लिखा है।

तेजो कहती है हां पापाजी , तीन महीने की ही बात है, मैं संभाल लूंगी। दूर कड़ी जैस्मीन सोचती है कि उसने ऐसा तो क्या किया है। बीजी कहते हैं कि कल दशहरा है, फ़तेह से कहती है की वह अपने अकादमी में सारी मशीनों की पूजा करे।

यह भी पढ़े - जैस्मिन ने की नई साजिश 

जैस्मीन और फ़तेह अकादमी में पूजा करने के लिए तैयार होते है।  जैस्मिन पूछती है की हम किसका इंतज़ार कर रहे है।  फ़तेह कहता है  जिसने मुझे जेल से छुड़ाया। जैस्मिन गुस्सा करती है की तेजो को क्यों बुलाया यहाँ। तब फ़तेह बताता है कि तेजो अब मेरी बॉस हैऔर इस अकादमी की मालिकन है। 

तेजो ने जिन पेपर पर साइन कराया है उस पर निवेष्को की यही शर्त थी की अकदमी तेजो संभालेगी तो ही वह फ़तेह को जेल से छुड़ा पाएंगे।  और उसने यह शर्त मान ली। जैस्मीन कहती हैं कि फ़तेह तुम इतनी बड़ी बात इतनी आसानी से कैसे मान गए। फ़तेह कहता है कि तो मैं जेल में सड़ता। 

पंडित जी फ़तेह को पूजा के लिए खाता बही लाने के लिए कहते है।  तेजो के आते ही जैस्मीन उससे लड़ने लग जाती है। तेजो कहती है कि मुझे इस अकादमी में कोई दिलचस्पी नहीं है। मुझे इस परिवार के लिए सहमत होना पड़ा। मुझे तो फतेह को यह बताना चाहिए कि तूने मुझे जेल भेजा था, तूने मेरा नाम लेकर निवेशकों को गलत खाते दिखाए, लेकिन देखो मैं तुम्हारे और फतेह के बॉस के रूप में वापस आइ हु।

देखते है दोस्तों क्या होता है उडारियाँ के अगले एपिसोड में !

Post a Comment

Previous Post Next Post