Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein 22 October 2021 Written Update - Kaise Virat Aur Sai Ki Duriyon Ne Unke Bich Pyaar Jagaya

Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein 22 October 2021 Written Update - Kaise Virat Aur Sai Ki Duriyon Ne Unke Bich Pyaar Jagaya

कल के एपिसोड में हमने देखा की कैसे पुरा चव्हाण परिवार विराट और साईं के घर लौटने के लिए बेसब्र हो रहा है।

जहाँ पर साईं से प्यार करने वाले लोग साई के घर आने से बहुत खुश हैं, वही कुछ लोग ऐसे भी हैं जो साई के घर लौटने से खुश नहीं हैं।

ऐसे लोग कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं साईं को तन्ना मरने के लिए और अपने शिकायतो का पिटारा ले कर बैठ गए हैं।

तभी विराट साईं को हॉस्पिटल से घर ले आता है और उनका ग्रहप्रवेश होता है, जलने वाले विराट और साईं को साथ देख कर पूरी तरह से जल भुन गए हैं।

लेकिन जो लोग अच्छे हैं वो ये देख कर बहुत खुश हैं और मन ही मन चाहते हैं की विराट और साईं हमेश ऐसे ही साथ इस घर में प्यार से रहे।

सभी घर वाले साई को बाते है की उसके घर छोड़ कर जाने से उन् सभी का कितना बुरा हाल हुआ था, तभी साई भी कहती है की आप लोगो का बुरा हाल हुआ होगा, लेकिन इस घर में कुछ लोग ऐसे भी है जिसका हाल ऐसा नहीं हुआ होगा, अब आगे…

Ghum-Hai-Kisikey-Pyaar-Mein-22-October-2021-Written-Update

गुम है किसी के प्यार में 22 अक्टूबर 2021 रिटेन अपडेट - कैसे विराट और साईं की दूरियों ने उनके बीच प्यार जगया

एपिसोड की शुरुआत में विराट और साईं बाप्पा की पूजा में हिस्सा लेते हैं। निनाद साई से कहता है कि वह उसके लिए हारमोनियम बजाएगा, तभी साई पूछती हैं कि भवानी कहाँ है।

भवानी रोलिंग पैन के साथ बाहर आती है, यह देख साईं कहती है कि क्या वह उससे मारना चाहती है। अश्विनी साई से कहती है कि भवानी उसके लिए कुछ खास बना रही है।

सोनाली साई को अश्विनी की बात पर विश्वास करने के लिए कहती है, क्योंकि वह BAPPA के बजाय मुख्य अतिथि हैं।

साईं भवानी से पूछती है कि क्या वह वास्तव में उसके लिए खाना बना रही है। सम्राट कहता है कि यह इतना खास दिन है कि भवानी उसके लिए मोदक बना रही है।

साई उत्तेजित हो जाती हैं तभी देवी उसके पास आती है और साईं को ठीक देखकर खुश होती है। वह उसे बताती है कि वह भवानी की मदद कर रही है।

पाखी कहती है कि वह चाहती है कि उसका भी शाही इलाज कराने के लिए एक दुर्घटना हो जाए।

साईं कहती हैं कि उन्हें इस तरह के इलाज के लिए किसी दुर्घटना की जरूरत नहीं है, क्योंकि उन्हें हर समय शाही इलाज मिलता है।

पाखी कहती है कि साईं ने घर में आते ही बोलना शुरू कर दिया और वह अस्पताल में न बोलने का नाटक कर रही थी।

विराट साई का बचाव करते हुए कहता हैं कि उसने कल से ही बोलना शुरू किया हैं। सम्राट सभी को चुप रहने और मुस्कुराने के लिए कहता है।

विराट कहता हैं कि साईं को थोड़ा आराम करना चाहिए और साई को अपने कमरे में ले ही जा रहा होता है की, अश्विनी एक चौकाने वाली बात कहती है, कि साईं आज से दूसरे कमरे में अकेली रहेगी।

यह सुन कर हर कोई हैरान हो जाता है।

निनाद पूछता है कि वह ये क्या कह रही है। भवानी कहती है कि वह ऐसा कैसे सोच सकती है।

अश्विनी कहती है कि एक माँ हमेशा अपने बच्चों के लिए सबसे अच्छा सोचती है।

पाखी साईं को विराट की पत्नी के रूप में इस घर में आने के लिए कहती है और अगर वह विराट के साथ नहीं रहती है, तो उसे घर में रहने का कोई अधिकार नहीं है।

करिश्मा बोलती है कि अश्विनी ने पाखी की इच्छा पूरी कर दी। मोहित उससे कहता है कि पहले सुनो और फिर बात करो।

अश्विनी कहती है कि उसके पास पाखी के सवाल का जवाब है। वह कहती है कि साई सिर्फ विराट की पत्नी नहीं बल्कि उनकी बेटी भी है, इसलिए वह उसके लिए कुछ निर्णय ले सकती है। वह कहती हैं कि विराट और साई पति-पत्नी हैं और हमेशा रहेंगे।

भवानी उसके फैसले का कारण पूछती है। अश्विनी बताती है कि उन्होंने पिछले कुछ दिनों में जो कुछ किया है, उसने उसके बारे में सोचा है और फिर यह फैसला लिया है।

देवी कहती है कि विराट और साई को अलग नहीं रहना चाहिए। अश्विनी कहती है कि यह उनके लिए भी आसान निर्णय नहीं है और यह उनके लिए एक कड़वी गोली है।

अश्विनी कहती है कि उनका रिश्ता गलतफहमियों से भरा है, जो साथ रहने पर और बढ़ेगा

अश्विनी याद दिलाती हैं कि विराट और साई जब साथ होते हैं तो हमेशा लड़ते हैं और जब वे दूर होते हैं तो उनकी जान को खतरा हो जाता है।

विराट कहता है कि उन्होंने इस बारे में साई से बात की है। अश्विनी को लगता है कि वह जानती है कि साईं विराट के जीवन के लिए इस घर में वापस आयी हैं।

अश्विनी कहती हैं कि अगर वे अलग कमरे में रहें तो सबसे अच्छा है। सोनाली कहती हैं कि उन्होंने कभी ऐसी सास नहीं देखी, जो उनकी बहू को भागने के लिए डांटने के बजाय उसके लिए नए कमरे की व्यवस्था करती हो।

करिश्मा कहती है कि साई भाग्यशाली हैं कि उसके पास अश्विनी है। शिवानी सोनाली से कहती है कि साईं को कोई डांट नहीं सकता, क्योंकि साईं का पति एक आईपीएस अधिकारी है। ओंकार कहता है कि साईं के लिए नई मिसाल कायम की गई है।

अश्विनी कहती है कि दुनिया हर दिन बदलती है और उन्होंने यह फैसला लिया है।

भवानी पूछती हैं कि उसने कब से इस परिवार के लिए फैसले लेना शुरू कर दिया है। अश्विनी कहती है कि यह भवानी का अधिकार है, लेकिन उसे अपनी बेटी के लिए निर्णय लेने का भी अधिकार है।

निनाद अश्विनी को चेतावनी देता है कि उसका निर्णय विराट और साई के रिश्ते को तोड़ने का कारण हो सकता है।

अश्विनी कहती है कि सिर्फ रीति-रिवाजों से शादी नहीं होती, बल्कि चुनौतियों के साथ यह और मजबूत होती जाती है।

अश्विनी कहती है कि उसे कभी भी एक सामान्य जोड़े की तरह रहने का मौका नहीं मिला, इसलिए वह उन्हें अपना रिश्ता शुरू करने का दूसरा मौका देना चाहती हैं।

वह कहती हैं कि अगर वे उन्हें अपनी मर्जी से जीने देंगे तो उनका बंधन कभी नहीं टूटेगा।

भवानी कहती है कि उसे एक बार उसके साथ चर्चा करनी चाहिए थी। अश्विनी कहती है कि उसने एक विशेषज्ञ से सलाह ली है, यह सुन कर सभी हैरान रह जाते है।

एपिसोड समाप्त

दोस्तों, अगर आपको लिखित अपडेट पसंद आया हो या को सुझाव हो तो प्लीज नीचे कमैंट्स में बताये।

ऐसे ही रोमांचक उपडटेस के लिए बने रहें केवल rocknroll.in पर..

यह भी पढ़े:

सम्राट पाखी के रिश्ते का अंत

अश्विनी ने विराट और साईं को किया अलग

विराट साई की जुदाई ने जलाई प्यार की आग

सम्राट ने चव्हाण निवास छोडने का फैसला किया

विराट की गोद में चव्हाण निवास में साई की एंट्री - पाखी ग़ुस्से से लाल

Post a Comment

Previous Post Next Post