Anupama 23 November 2021 Spoiler Alert - Bapuji Ne Anupama Se Anuj Ke Pyar Ko Sweekar Karne Ko Kaha

Anupama 23 November 2021 Spoiler Alert - Bapuji Ne Anupama Se Anuj Ke Pyar Ko Sweekar Karne Ko Kaha

Anupama-23-November-2021-Spoiler-Alert---Bapuji-Ne-Anupama-Se-Anuj-Ke-Pyar-Ko-Sweekar-Karne-Ko-Kaha

अनुपमा 23 नवंबर 2021 स्पॉयलर अलर्ट - बापूजी ने अनुपमा से अनुज के प्यार को स्वीकर करने को कहा

पिछले एपिसोड में हमने देखा की, जब बा ने काव्या को उनको अनुपमा के खिलाफ भड़काने का दोषी ठहराया, तो काव्य अपने आप को बचाने के लिए बा पर चीख पड़ती है और सारा दोष बा पर ही डाल देती हैं।

यह भी पढ़े: 26 नवंबर 2021 स्पॉयलर अलर्ट - अनुपमा के दिल में जागा अनुज के लिए प्यार

यह देख वनराज अपने गुस्से पर काबू नहीं रख पाता और काव्या पर भड़क जाता हैं, काव्य को एक अच्छी बहु न बन पाने के लिए और उसके परिवार को अपना परिवार न मानने के लिए फटकार लगता है। 

मगर इस बार, काव्या भी जवाब देने का फैसला करती है और कहती है कि, उसने पूरी कोशिश की इस घर की अच्छी बहु बनने की लेकिन उसके परिवार ने, उसके बा बापूजी ने और यहां तक की उसके बच्चों ने कभी उसे वो प्यार दिया ही नहीं जो वह आज भी अनुपमा को देते है। 

काव्या आज इतनी दुःखी और साथ ही इतनी ज़्यादा क्रोधित है की वह वनराज से कह देती है की, उसके जीवन की सबसे बड़ी गलती शाह परिवार की बहू बनना था।

यह सुनते ही वनराज का क्रोध फूट पड़ता है और वह कहता है कि, उसकी सबसे बड़ी गलती काव्या से शादी करना है। लेकिन उसने जो गलती अपने पहली पत्नी के साथ की थी, वह काव्या के साथ नहीं करेगा। 

इस लिए वह कहता हैं कि, बापूजी पूरे सम्मान के साथ इस घर में अपने पुरे परिवार के साथ रहेंगे और वनराज - काव्या कहीं और जा कर रहेंगे।

लेकिन काव्या वनराज के साथ शाह हाउस छोड़ने से मना कर देती है और घर के अंदर चली जाती है। फिर वह घर के कागजात लेकर लौटती है और वनराज के मुँह पर दे मारती है।

वनराज वह कागज़ पढ़ कर हैरान रह जाता है, अनुपमा के पूछने पर, काव्या बताती है की, वह इस घर को नहीं छोड़ेगी क्योंकि वह शाह हाउस की नई मालिक है और पूरा घर अब सिर्फ उसका है।

काव्या, वनराज और उसके परिवार को धोखा दे कर पूरा शाह हाउस हतिया लेती है, और उन् सभी को बेवक़ूफ़ कहती है, क्यों की जब उसने धोके से घर के कागजात पर हस्ताक्षर करवाए, तो सभी ने कागज़ात बिना पढ़े ही साईन कर दिए।

अंत में काव्या कहती है की, तुम सबको अनुपमा बहुत पसंद है ना, तो अब सब उसके घर पर जा के रहो और वह अगर न रखे तो सड़क पर रहो। 

यह सुनते ही अनुपमा को क्रोध आ जाता है और वह काव्या से कहती है की, तुमने इस ईंट पत्थर के लिए पुरे परिवार के साथ धोका किया। अगर प्यार से कहती तो बा बापूजी तो क्या, उसके बच्चे भी ख़ुशी ख़ुशी यह घर तुम्हें भीख़ में दे देते। 

बापूजी ने अनुपमा से अनुज के प्यार को स्वीकर करने को कहा:-

आने वाले एपिसोड में हम देखेंगे की, बापूजी अनुपमा का पक्ष लेते हैं, और अनुपमा से कहते है कि अब उसे अपने जीवन पर ध्यान देना चाहिए।

वह कहते है कि भगवान कृष्ण ने अनुज को उसके जीवन में भेजा है, अब यह उसके हाथ में है की वह अनुज को अपने मन में आने देगी या नहीं। बापूजी अनुपमा से अनुज के प्यार को स्वीकार करने के लिए कहते हैं।

बापूजी के यह शब्द अनुपमा को झकझोर कर रख देते है। वह बापूजी की बात सुनकर हैरान और चौंक जाती हैं, क्यूंकि उसने अनुज को आज तक केवल एक दोस्त के रूप में ही देखा हैं।

क्या अनुपमा बापूजी की बात मान कर अपने और अनुज के रिश्ते के बारे में कभी सोच पाएगी?

क्या इतने ड्रामे के बाद वनराज और काव्या अलग हो जाएंगे?

वनराज काव्या से इस बेज़्ज़ती और धोखे का बदला लेगा?

प्लीज अपने विचार निचे कमैंट्स में बताये। 

ऐसे ही मज़ेदार अपडेट्स पाने के लिए आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर प्लीज फॉलो करे।

यह भी पढ़े:

Post a Comment

Previous Post Next Post