Anupama 3 November 2021 Written Update - Anupama Ne Apna Hakk Chhoda

अनुपमा सीरियल अपडेट

अनुपमा 3 नवंबर 2021 रिटन अपडेट - अनुपमा ने अपना हक्क छोडा

Anupama-3-November-2021-written-update-Anupama-Ne-Apna-Hakk-Chhoda

Anupama 3 November 2021 Written Update - Anupama Ne Apna Hakk Chhoda

अब तक हमने देखा की कैसे अनुपमा अपने लिए भाड़े का घर ढूंढ रही है, लेकिन हर कोई उसके सिंगल होने के बारे में जान कर उसे घर देने से मना कर देता है। अनुपमा इस वजह से बहुत ग़ुस्सा है और ऑफिस में अपने काम पर ग़ुस्सा निकल रही होती है। 

अनुज पूछता है की घर का कुछ फाइनल हुआ? अनुपमा बताती है की लोगो को मेरे सिंगल होने से प्रॉब्लम है। उनको मेरी उम्र नहीं दिखती, बात करते है की मैं कुछ गलत करुँगी?

अनुज कहता है की कल हम दो सिंगल जाकर ऐसे लोगो के कान के निचे डबल बजा कर आएंगे। अनुपमा ये सुन कर बहुत हस्ती है, अब आगे..

आज के एपिसोड की शुरुवात में अनुज की बात सुन कर अनुपमा हस्ती है और अनुज यही सोचता है की बस अनुपमा ऐसे ही हमेशा हस्ती रहे।

वहीँ दूसरी तरफ बा बाजार की ओर जा रही होती है की उसे पडोसी ताने मारते है की अनुपमा ने घर छोड़ दिया, अब वह अपने माँ के साथ रह रही है या अनुज के साथ। पडोसी बा को बहुत ताने मारते है और कहते है की अपनी बहु को बेटी बनाने का नतीजा देख लिया। 

यह सब सुन कर बा को बहुत बुरा लगता है लेकिन वह कुछ नहीं कह पाती। तभी अनुपमा अपने डांस अकेडमी जाने के लिए वहाँ से निकलती है और बा को देख कर उनके पैर चुने वाली होती है की बा उसे रोक देती है। 

वहाँ सड़क पर खड़े सभी लोग उनको देखने लगते है, और पडोसीओ के तानो का ग़ुस्सा बा अनुपमा पर निकलती है। वह कड़क आवाज में सभी को सुनाते हुए कहती है की अनुपमा उसकी कुछ नहीं लगती, न ही बहु और न ही बेटी और उसका उनके घर से कोई रिश्ता नहीं है। 

बा सभी को यह चेतावनी देती है की ऐसे अंजान लोगो के लिए आज के बाद उसे कोई भी कुछ नहीं बोलेगा। बा का क्रोध देख कर और उनकी बाते सुन कर उनके पडोसी वहाँ से चले जाते है और बाकी लोग भी अपने अपने रास्ते चले जाते है। 

अनुपमा बा की यह सब बातें सुन कर बहुत दुःखी होती है और वहाँ से जाने लगती है की तभी काव्य अनुपमा को रोक लेती है। काव्य अनुपमा को घर के कागज़ देते हुए कहती है की उसे अब अपने हिस्से का घर बा के नाम पर कर देना चाहिए। 

अनुपमा बिना एक मिनट गवाए उन् कागज़ कर दस्तखत कर देती है और कागज़ बा को देते वक़्त कहती है की, पहले उनसे दुःखी हो कर अपना घर छोड़ा और अब बा की ख़ुशी के लिए अपना हक्क छोड़ रही है।

इसके बाद अनुपमा बा से कहती है की वो उसका घर में आना रोक सकती है लेकिन उस घर से उसका रिश्ता नहीं तोड़ सकती, फिर अनुपमा भी वहाँ से चली जाती है। 

अनुपमा डांस अकडेमी पोहोचति है जहाँ समर और नंदिनी दोनों डांस की प्रैक्टिस कर रहे होते है, वह अनुपमा को देख कर बताते है की उन्हें एक शादी में डांस का कॉन्ट्रैक्ट मिला है, अनुपमा इस बात से खुश हो जाती है और गाना बजाने को कहती है। 

वहीँ दूसरी ओर, चंट चालाक काव्य वनराज के कान भरने कैफ़े पोहोच जाती है और घर के कागज़ात के बारे में बताती है। काव्य की बात सुनते ही वनराज के होश उड़ जाते है और वह काव्य को डांटते हुए कहता है की बापूजी को कितना बुरा लगेगा जब उन्हें इस बात का पता चला तो। 

तभी अनुपमा के डांस अकेडमी में गाना बजता है और अनुपमा दिल खोल कर नाचती है - समर नंदिनी यह देख कर बहुत खुश होते है और उसी समय अनुज वहाँ आ जाता है और अनुपमा को डांस करता देख बहुत खुश होता है। 

अनुज अनुपमा को बताता है की वह अपना फ़ोन ऑफिस में भूल आयी थी तो वह ये लौटाने आया है। फिर अनुज अनुपमा के लिए भाड़े का घर देखने जाने को कहता है। वनराज और काव्य - अनुज और अनुपमा को को एक साथ जाते हुए देख पूरी तरह से जल भुन जाते है। 

मौके का पूरा फायदा उठाते हुए काव्य वनराज को कहती है की अगर अनुज अनुपमा को काम के साथ घर भी दे रहा है तो उसके पास सब कुछ है, लेकिन हमारे पास कुछ भी नहीं है, तो हमें घर की तरह कारखाना भी अनुपमा से वापस ले लेना चाहिए। 

वनराज जो पहले से ही अनुपमा और अनुज को देख कर जलता है, काव्य की बातों में आ जाता है और काव्य के प्लान का हिस्सा बनने के लिए तैयार हो जाता है।  

वहीँ शाह हाउस में बा धनतेरस के दिन बर्तन खरीद रही होती है और बर्तन वाले को उस पर अपना नाम - लीला वनराज के बापूजी शाह लिखने को कहती है। इतने में बापूजी वहाँ आ जाते है और कहते है की तू सिर्फ अपना नाम लीला लिखवा। 

बा बापूजी के हाथ में घर के वहीँ कागज़ देखती है जो उसने अनुपमा से दस्तख़त करवाए हे, बा समझ जाती है की बापूजी बहुत ग़ुस्से में है इस लिए कुछ नहीं कहती और बर्तन वाले से बर्तन ले कर उसे वहाँ से जाने को कहती है। 

उसके जाते है बापूजी बा पर ग़ुस्से से टूट पड़ते है और बा को डांटते है की उसने कैसे उसकी बेटी से उसका हक्क छीना जो उसने उसे दिया था। बा भी जो लड़ने में कभी पीछे नहीं रहती - पलट कर जवाब देती है की उसे जो सही लगा उसने वह किया। 

इस पर बापूजी और क्रोधित होते हुए कहते है की फिर में भी वहीँ करूँगा जो मुझे सही लगता है और वह घर के कागज़ात फाड़ने ही वाले होते है की वनराज आ कर उन्हें रोक लेता है।

उधर अनुपमा अनुज के साथ भाड़े का घर देखने के लिए ऑटो से जा रही होती है, अनुज को कुछ सोचते हुए देख कर अनुपमा कहती है की मुझे पता है आप सोच रहे है की मेरे पास गाड़ी होने के बाद भी हम ऑटो से क्यों जा रहे है। 

अनुज हाँ में सर हिलता है, अनुपमा बताती है की आपकी बड़ी गाड़ी देख कर कहीं मकान मालिक घर का भाड़ा न बढ़ा दे। अनुज को हसी आ जाती है और वह टाई और सूट निकाल कर मिडिल क्लास जैसा लुक ले लेता है। 

यह देख कर अनुपमा खुश होती है और कहती है आप अब भी सभी से अलग लग रहे है और पूछती है की आप इतने अच्छे क्यों है। यह सुनते ही जैसे मानो अनुज के रग रग में एक सुर सूरी सी दौड़ जाती है। अनुपमा से अपनी तारीफ़ सुन कर अनुज मन ही मन बहुत खुश होता है और शर्मा जाता है। 

वहीँ शाह हाउस में, बापूजी घर के कागज़ात फाड़ने ही वाले होते है की वनराज आ कर उन्हें रोक लेता है और कागज़ को न फाड़ने के लिए कहता है। इस पर बापूजी सभी पर और भी ग़ुस्सा हो जाते है।

बापूजी बा से कहते है की उसने घर की लक्मी का अपमान किया था और उसे इस घर को छोड़ने पर मजबूर किया था, इस लिए अब इस घर में कभी लक्मी नहीं आएगी। यह कह कर बापूजी वहाँ से चले जाते है। 

तो दूसरी ओर अनुपमा और अनुज एक मकान देखने पोहोचते है और अनुपमा को वह मकान बहुत पसंद आता है। तभी माकन मालकिन और ब्रोकर वहाँ आते है - अनुपमा आगे कोई भी बात करने से पहले उसे बता देती है की वह एक तलाक़शुदा है और सिंगल भी। 

वह इस घर में अकेली रहेगी और उसका बेटा कभी कभी घर में आता जाता रहेगा और साथ में बताती है की अनुज उसका दोस्त है तो कभी कभी वह भी यहाँ आएगा जाएगा। 

अनुपमा की बातें सुनते ही माकन मालकिन कहती है की वह भी सिंगल है और पहले उसे भी ऐसे मकान मालिकों के ताने सुनने पड़े थे, इस लिए आज वो किसी भी सिंगल औरत को घर देने से मना नहीं करती। 

यह बात सुनते ही अनुपमा और अनुज बहुत खुश होते है, धनतेरस के दिन अनुपमा को उसके नए घर की चाबियाँ मिल जाती है और अनुपमा बहुत खुश हो जाती है - अनुपमा को खुश देख कर अनुज भी बहुत खुश होता है। 

एपिसोड समाप्त।

दोस्तों अगर आपको यह रिटेन अपडेट पसंद आया हो या कोई सुझाव हो तो प्लीज नीचे कमैंट्स में बताये। 

और अपडेट पढ़िए -

टूटी हुई अनुपमा को मिला कान्हा जी और अनुज का साथ 

अनुपमा ने छोड़ा घर, बापूजी ने कहा घटिया, गिरे हुए लोग 

सीरियल अपडेट समय पर पाने के लिए हमारे पेज को ज्वाइन और फॉलो जरूर करे। www.facebook.com/rocknrollhindilyrics

रॉक एन रोल के साथ जुड़े रहने के लिए धन्यवाद् !

Post a Comment

Previous Post Next Post