Anupama 19 November 2021 Spoiler Alert - Vanraj Ne Baa Ka Apamaan Kiya Aur Ghar Se Baahar Nikaala - Baa Ne Anupama Se Madad Maangi

Anupama 19 November 2021 Spoiler Alert - Vanraj Ne Baa Ka Apamaan Kiya Aur Ghar Se Baahar Nikaala - Baa Ne Anupama Se Madad Maangi

Anupama-19-November-2021-Spoiler-Alert-Vanraj-Ne-Baa-Ka-Apamaan-Kiya-Aur-Ghar-Se-Baahar-Nikaala

अनुपमा 19 नवंबर 2021 स्पॉयलर अलर्ट - वनराज ने बा का अपमान किया और घर से बहार निकला - बा ने अनुपमा से मदद मांगी

आज के एपिसोड में हमने देखा की अनुपमा, अनुज और जीके मिल कर बापूजी का हौसला बढ़ा रहे होते है के तभी यादों की बारात (बापूजी के साले साहब) भी अपना सामान लेकर अनुपमा के घर रहने आ जाते है।

इतने में समर गुजराती नए साल मनाने की ख़ुशी में, वहाँ पर उनके लिए गुजराती नाश्ता ले कर आता है, तभी वहाँ पर काव्य और बा आ पोहोचते है। उन् दोनों को वनराज के ग़ुस्से से डर है की अगर उसे पता चला की बापूजी ने घर छोड़ दिया है तो क्या होगा। 

इस लिए दोनों ही सब ठीक करने के लिए बापूजी को वापस ले जाने आते है, लेकिन बापूजी मना कर देते है। बा ताने मार कर, माफ़ी मांग कर और यहाँ तक की इमोशनली ब्लैक मेल कर के बापूजी को घर लेजाने की कोशिश करती है, लेकिन वह नहीं मानते। 

यह भी पढ़े: 22 नवंबर 2021 स्पॉइलर अलर्ट - काव्या ने असली रंग दिखाया बनी शाह हाउस की मालकिन - पुरा शाह परिवार सड़क पर

बापूजी बा से बहुत क्रोधित है और इस लिए वह बा के मुँह पर ही दरवाजा बंद कर देते है, इस पर बा सारा इलज़ाम एक बार फिर से अनुपमा पर डाल देती है। बापूजी से यह बर्दाश्त नहीं होता और वह बा को चेतावनी देते है की उनकी बेटी के बारे में वह कुछ नहीं बोलेगी।

अंत में बापूजी बा के आगे हाथ जोड़ कर बिनती करते है की, अब उनमे लड़ने की शक्ति नहीं बची है और वह अपनी बाकी की ज़िन्दगी बा के तानो के साथ नहीं, बल्कि खुल कर जीना चाहते है। यह सब कहते कहते बापूजी की आँखे भर आती है और साथ ही अनुपमा और समर की भी आँखे नम हो जाती है। 

आखिर कार हार कर बा वापस लौट जाती है और जाते जाते काव्य बापूजी से पूछती है की अगर वनराज ने आपके बारे में पूछता तो, बापूजी ग़ुस्से में कहते है की - बोल देना उसका बाप मर गया, काव्य भी मासयुस हो कर लौट जाती है। 

उधर वनराज जो सुबह से घर पे सभी को नए साल की बधाई देने के लिए कॉल कर रहा था, किसी ने उसके फ़ोन का जवाब नहीं दिया और इस लिए वह भी होटल से घर पोहोचता है। घर आ कर वह देखता है की घर पर सिर्फ तोषु ही है। 

वनराज तोषु से पूछता है की बाकी लोग कहाँ है, तोषु बहाना बना देता है की सभी लोग मंदिर गए है, अभी आ जाएंगे। वनराज को शक हो जाता है की कुछ तो गड़बड़ है और तोषु उससे कुछ छुपा रहा है। 

वनराज एक बार फिर से तोषु को पूछता है की, मेरे पीछे घर में अनुपमा और अनुज को लेकर कुछ हुआ है क्या? तोषु बात को टाल देता है और वहाँ से चला जाता है। वनराज अब समझ गया है की तोषु उससे झूठ बोल रहा है और उसके पीछे कुछ हुआ तो जरूर है। 

वनराज ने बा का अपमान किया और घर से बहार निकला:-

बा और काव्य मायूस हो कर अकेले घर लौटे है, अनुपमा भी उनके साथ शाह हाउस आती है। क्यूंकि अनुपमा वनराज के ग़ुस्से को और उसके दिल में बापूजी के प्यार को अच्छे से जानती है। वह जानती है की बापूजी के बारे में पता चलेगा तो वनराज बहुत क्रोधित होगा। 

आखिर वही होता है, वनराज को पता चल जाता है की कैसे बा ने बापूजी का सब के सामने अपमान कर के उन्हें घर छोड़ने पर मजबूर कर दिया। 

वनराज बा से इतना नाराज़ हो जाता है की वह बा का सभी के सामने अपमान करते हुए उन्हें घर से निकाल देता है। वह कहता है की जब तक वह बापूजी को इस घर में नहीं लेकर आती है, तब तक इस घर में पैर मत रखना। 

वनराज की यह बात बा को एक तीर की तरह लगती है और उन्हें भी पता चल जाता है की बापूजी को भी कितना दुःख हुआ होगा, जब उन्होंने सभी के सामने बापूजी का अपमान किया था।

यह भी पढ़े: बा बापूजी को घर लौटने के लिए मजबूर करती है - बापजी ने बा को घर से निकला

शायद इससे ही कहते है इंस्टेंट कर्मा - जैसी करनी वैसी भरनी। 

वनराज के इस फैसले को सुन कर सभी लोग दंग रह जाते है और कोई भी वनराज का विरोध करने की हिम्मत नहीं कर पाता। साथ ही वनराज, बापूजी के घर न लौटने तक खाना-पीना त्याग देता है। 

बा ने अनुपमा से मदद मांगी:-

वहीँ बा दुःखी हो कर रोते हुए घर से चली जाती है। काव्य तक बा का साथ नहीं देती, लेकिन अनुपमा जो बा के साथ वहीँ पर थी, उन्हें इस दुःख के समय में साथ देती है। 

बा को अब पता चल गया है की क्यों बापूजी अनुपमा को इतना मान देते है। अनुपमा की इतनी बेज़्ज़ती करने के बाद, उसे घर से निकलने पर मजबूर करने के बाद और यहाँ तक उसके चरित्र पर कीचड़ उछलने के बाद भी आज अनुपमा बा का साथ दे रही है। 

बा हर बात याद कर के अनुपमा के गले लग कर रोती है और उससे बिनती करती है की, एक वहीँ है जो बापूजी को घर लौटने के लिए मना सकती है। बा अनुपमा से मदद मांगती है की वह उसके पति को वापस पाने में उसकी मदद करे। 

क्या अनुपमा बा की मदद करेगी और बापूजी को घर लौटने के लिए मनाएगी?

क्या बापूजी अनुपमा की बात मान कर घर लौंटेंगे?

क्या वनराज बापूजी को मनाने अनुपमा के घर जाएगा?

प्लीज अपने विचार निचे कमैंट्स में बताये। 

ऐसे ही मज़ेदार अपडेट्स पाने के लिए आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर फॉलो करे।

यह भी पढ़े:

Post a Comment

Previous Post Next Post