Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein 10 November 2021 Written Update - Bhavani Ke Khilaaf Syi Ki Bagaawat

Ghum Hai Kisikey Pyaar Mein 10 November 2021 Written Update - Bhavani Ke Khilaaf Syi Ki Bagaawat

Ghum-Hai-Kisikey-Pyaar-Mein-10-November-2021-Written-Update

गुम है किसी के प्यार में 10 नवंबर 2021 रिटन अपडेट - भवानी के खिलाफ सई की बगावत

आज के एपिसोड की शुरुवात में, भवानी सीधे शब्दों में कह देती है की कोई भी अपने कमरे में खाना नहीं खायेगा, सभी लोग साथ मिल कर ही खाना खाएंगे। शादी की सालगिराह को लेकर वो और कोई भी बात नहीं सुनना चाहती। 

सई कहती है की उसने और विराट ने निनाद और अश्विनी के लिए उनके कमरे में बहुत ही स्पेशल व्यवस्था किया है और आज उनके लिए बहुत स्पेशल है तो उन्हें आज अपने कमरे में खाना खाने दे। 

अश्विनी जो भवानी के ग़ुस्से को अच्छे से जानती है, सई को रोकते हुए कहती है की बात को जाने दो, में सभी के लिए खाना परोस देती हूँ, हम सब साथ में खाना खाएंगे। इस पर भवानी अश्विनी से कहती है की अब सब कुछ पहले की तरह सामान्य हो जाना चाहिए। 

यह भी पढ़े: 12 नवंबर 2021 रिटन अपडेट - सई के खिलाफ पाखी की चाल कामियाब

विराट भवानी से अनुरोध करता है की आज उसके लिए बहुत ख़ास दिन है जब उसके माता पिता कई सालो के बाद करीब आये है और वह इस दिन को उनके लिए ख़ास बनाना चाहता है। इस लिए वह भवानी से इजाजत मांगता है की निनाद और अश्विनी को आज के दिन अपने कमरे में खाना खाने दे। 

तभी देवी के मुँह से गलती से विराट और सई के सरप्राइज के बारे में सब कुछ निकल जाता है, सरप्राइज क बारे में जान कर भवानी को यह बात बिलकुल भी पसंद नहीं आती। इस बात पर सभी के बिच काफी विवाद हो जाता है। 

इस मौके का फायदा उठाते हुए पाखी, सोनाली और ओंकार इन् सब के लिए सई को दोषी ठहराते है। उनकी बात सुन कर भवानी भी बहुत कुछ बोल जाती है और तब विराट का धीरज टूट जाता है और वह कह देता है की अब निनाद और अश्विनी अपने कमरे में ही खाना खाएंगे। 

विराट की बात सुन कर भवानी, सोनाली और ओंकार स्तब्ध रह जाते है, विराट और सई, निनाद और अश्विनी को उनके कमरे में ले जाते है।

भवानी के खिलाफ सई की बगावत:-

इतने सारे विवाद के बाद बाकि परिवार वाले भी वहाँ से चले जाते है। लेकिन भवानी को यकीन नहीं हो रहा होता है की कोई उसकी बात नहीं मान रहा और सभी अपने मन का कर रहे है।  

इस बहती गंगा में नहाने के लिए, पाखी भी कूद पड़ती है। वह भवानी को उकसाती है की यह सब सई का किया धरा है। सई ने आपके खिलाफ बगावत शुरू कर दी है और इसका नतीजा यह हुआ की आज किसी ने आपकी एक भी बात नहीं मानी।

पाखी भवानी से यह भी कहती है की अगर आप ऐसे ही सई को बढ़ावा देती रही, तो एक दिन ऐसा आएगा की कोई आपकी बात नहीं सुनेगा और सिर्फ सई की बात मानी जायेगी। 

वहीँ निनाद और अश्विनी अपने कमरे में आ कर बहुत कुश हो जाते है और कमरे की बेहतरीन सजावट के लिए विराट और सई दोनों को धन्यवाद् देते है। विराट, निनाद और अश्विनी को डिनर करने के लिए कह कर कमरे से बहार चला जाता है। 

सई भी कमरे से बहार जा ही रही होती है की अश्विनी उसके रोक लेती है और कहती है की, उसकी और विराट की शादी की सालगिराह ऐसे ही मनाएंगे। इस पर सई भावुक हो जाती है और इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहती। 

सई अश्विनी से कहती है की उसकी शादी एक समझौता है और इस लिए उसकी शादी की सालगिराह कभी नहीं मनाई जा सकती। सई कहती है की वो निनाद और अश्विनी से बहुत प्यार करती है और उन्हें कभी खोना नहीं चाहती।

अश्विनी पूरी कोशिश करती है सई को मनाने की लेकिन सई उसकी एक बात नहीं सुनती और रोने लगती है। इसके बाद सई निनाद और अश्विनी को अपनी शादी की सालगिराह का आनंद लेने के लिए कह कर वहाँ से चली जाती है। 

वहीँ दूसरी तरफ, सोनाली और ओंकार नए घर की खोज में लगे होते है और उसके बारे में बात करते है। तभी भवानी वहाँ पर आ जाती है और उन्हें घर छोड़ने से रोकती है। इस पर ओंकार कहता है की जब आप सई को नहीं रोक पायी तो हमे क्यों रोक रही है। 

तभी पाखी और करिशा भी वहाँ आ जाते है और भवानी चुप हो जाती है। लेकिन शातिर पाखी तो सब कुछ जानती है और मौके का फायदा उठाना तो कोई पाखी से सीखे। पाखी भवानी को ताना मरते हुए बोलती है की आप क्यों चुप हो गयी, मुझे सब पता है आप क्या बात कर रही थी। 

इस पर सोनाली कहती है की हमने तो अपना सामान पैक करना शुरू कर दिया है और जल्द ही घर छोड़ कर चले जाएंगे और फिर इस घर पर सई का राज होगा और आप कुछ नहीं कर पाओगे। 

इसके बाद, आग में घी डालने का काम पाखी करती है। वह कहती है की सोनाली और ओंकार के इस घर से जाने के बाद आपका पक्ष लेने वाला कोई नहीं होगा और आप अकेली रह जाओगी। सई अश्विनी को इस घर की मुखिया बना देगी और फिर अपनी मनमानी करेगी। 

भवानी यह सारी बाते सुन कर परेशान हो जाती है कुछ भी नहीं कह पाती, बाकी वहीँ खड़े षडियंत कारी भवानी को परेशान देख कर मन ही मन खुश होते है, क्यूंकि उनका भवानी को सई और अश्विनी के खिलाफ करने का पैंतरा कामियाब होता दिख रहा है। 

वहीँ दूसरी ओर विराट सई के कमरे में उसका इंतेज़ार कर रहा होता है। सनी उसे ढूंढ़ता हुआ सई के कमरे में पोहोचता है और कहता है की काश विराट और सई की शादी की सालगिराह भी ऐसे ही होती तो कितना मज़ा आता। 

उसी वक़्त सई अपने कमरे में आ जाती है और उनकी बातें सुन लेती है। सई जो पहले से ही इस बात से ख़फ़ा हो कर निनाद और अश्विनी के कमरे से चली आयी है, वही बात विराट और सनी से सुन कर अपना आप खो देती है।

सई दोनों पे भड़क जाती है, की सभी को हमारी शादी की सालगिराह की इतनी परवाह क्यों है। सई को लगता है, विराट ने ही सभी को यह सब करने और कहने के लिए बोला है।

विराट सई को समझने की कोशिश करता है की उनसे ऐसा कुछ नहीं कहा, लेकिन सई सुनने को तैयार ही नहीं होती और पूरा दोष विराट पर डाल देती है। 

एपिसोड समाप्त।

क्या विराट और सई की नई नई दोस्ती को किसी की नज़र लग गयी है?

क्या विराट और सई दुबारा से एक दूसरे से दूर हो जाएंगे?

इन सवालों के जवाब के लिए मिलते है अगले एपिसोड में rocknroll.in पर। 

तुरंत अपडेट पाने के लिए आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते है।

यह भी पढ़े:

Post a Comment

Previous Post Next Post