Anupama 22 November 2021 Spoiler Alert - Kavya Ne Asli Rang Dikhaaya Bani Shah House Ki Maalkin - Pura Shah Parivaar Sadak Par

Anupama 22 November 2021 Spoiler Alert - Kavya Ne Asli Rang Dikhaaya Bani Shah House Ki Maalkin - Pura Shah Parivaar Sadak Par

Anupama-22-November-2021-Spoiler-Alert---Kavya-Ne-Asli-Rang-Dikhaaya-Bani-Shah-House-Ki-Maalkin

अनुपमा 22 नवंबर 2021 स्पॉइलर अलर्ट - काव्या ने असली रंग दिखाया बनी शाह हाउस की मालकिन - पुरा शाह परिवार सड़क पर

पिछले एपिसोड में हमने देखा, बापूजी ने घर लौटने से मना कर दिया है और बा को दुःखी हो कर खाली हाथ ही वापस आना पड़ता है। 

इधर वनराज को सच पता चल जाता है और वह ग़ुस्से में लाल पीला हो जाता है। जैसे ही वह बा को घर के अन्दर आता देखता है, एक भूखे शेर की तरह उन् पर टूट पड़ता है और अपनी सारी हद पार कर के बा की बेज़्ज़ती करता है और घर से निकल जाने को कहता है। 

पीछे खड़ी शातिर काव्य भी आग में घी डालने का काम करती है और वनराज को भड़कती है। वहीँ अनुपमा अकेली बा का पक्ष लेते हुए उनका अप्मान करने से वनराज को रोकती है और उन्हें घर से न निकलने की बिनती करती है। 

यह भी पढ़े: 23 नवंबर 2021 स्पॉयलर अलर्ट - बापूजी ने अनुपमा से अनुज के प्यार को स्वीकर करने को कहा

वनराज जो इस वक़्त कुछ भी सोचने और समझने के स्तिथि में नहीं है, वह बा के मुँह पर ही दरवाजा बंद करने ही जा रहा होता है की अनुपमा दरवाजा पक्कड़ लेती है और बा के मुँह पर ऐसे दरवाजा बंद कर का विरोध करती है। 

इस वजह से दोनों के बिच काफी कहाँ सुनी हो जाती है और दोनों ही दरवाजा को बंद करने और खोले के लिए अपना पूरा जोर लगा देते है। तभी वनराज की नज़र घर के बाहर खड़े बापूजी पर पड़ती है और वह दरवाजा छोड़ देता है। 

वनराज ख़ुशी के मारे दौड़ कर बापूजी को गले लगा लेता है और उन्हें घर के अंदर लाने के लिए उनका हाथ पकड़ता है। लेकिन बापूजी, जिनका सारा मान इस घर में छीन गया वह घर के अंदर आने से मना कर देते है। 

फिर वनराज और बा दोनों ही हाथ जोड़ कर बार बार बापूजी से बिनती करते है की वह घर लौट आये, लेकिन वह टस से मस नहीं होते और अपनी बात पे बने रहते है। 

आखिर बा का सब्र टूट जाता है और वह सभी के सामने कह देती है की, मैंने ग़ुस्से में जो कुछ भी किया, उसके पीछे सिर्फ और सिर्फ काव्य ही है। उसने ही मुझे अनुपमा के लिए भड़काया था और ग़ुस्से में उनसे यह पाप हो गया। 

सारा दोष अपने ऊपर आता देख, काव्य तिलमिला उठती है और किसी दुष्ट चंडाल की तरह वह बा पर चीखती है की, उसने उन्हें नहीं भड़काया और सारी गलती बा की ही है, क्यों की वह कोई बच्ची नहीं की मेरे भड़काने से भड़क जाए। 

यह सब सुन कर वनराज जो पहले से ही काफी ग़ुस्से में है वह अब काव्य पर टूट पड़ता है और सीधे शब्दों में कह देता है की, बापूजी पुरे समान के साथ इस घर में रहेंगे और में काव्य इस घर को छोड़ कर जाएंगे। 

अपने हाथो से घर जाता देख काव्य से बर्दाश्त नहीं होता और वह घर छोड़ने से इंकार कर देती है और सारा दोष अनुपमा और शाह परिवार पर डाल देती है। इससे भी उसका पेट नहीं भरता, वह वनराज को यह भी ताना मरती है की, उसने इस घर की बहु बन कर सबसे बड़ी गलती की है। 

काव्य की बातें सुनते ही वनराज अपना सारा आपा खो देता है और वह भी जवाब में कह देता है की उसने भी काव्य से शादी कर के अपने जीवन की सबसे बड़ी गलती की है और उसे अब इस घर को छोड़ कर जाना होगा। 

काव्या ने असली रंग दिखाया बनी शाह हाउस की मालकिन - पुरा शाह परिवार सड़क पर:-

काव्य अपना असली रूप दिखते हुए, घर के अंदर चली जाती है और घर के कागज़ात वनराज के मुँह पर मारते हुए कहती है की, यह पूरा घर सिर्फ उसका है और वह इस घर की नयी मालकिन।

इस लिए कोई भी उसे अब इस घर से नहीं निकल सकता और निकलना ही है तो पुरे शाह परिवार को इस घर से निकलना होगा। 

प्रॉपर्टी के पेपर्स काव्य के नाम पर देखकर वनराज के पैरों तले ज़मीन निकल जाती है और सारा शाह परिवार सदमे में आ जाता है। लेकिन काव्य उन सभी की यह हालत देखकर मुस्कुराती है। 😈

अब वनराज काव्य से अपने घर को वापस लेने के लिए क्या करेगा?

क्या अनुपमा शाह हाउस वापस दिलाने में शाह परिवार का साथ देगी?

क्या शाह परिवार को अब काव्य का ग़ुलाम बन कर शाह हाउस में रहना होगा, या उन्हें सड़क पर रहना पड़ेगा?

वाकई, आने वाले एपिसोड्स बहुत ही ज़बरदस्त ड्रामे से भरपूर होने वाले है। 

ऐसे ही मज़ेदार अपडेट्स पाने के लिए आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर प्लीज फॉलो करे।

यह भी पढ़े:

Post a Comment

Previous Post Next Post