पिंजरे Pinjra Hindi Lyrics: Gurnazar - Jaani - B Praak

Pinjra Hindi lyrics is a Punjabi song sung by Gurnazar. The lyrics of this song are penned by Jaani and the music of this song is composed by B Praak.

Pinjra-Hindi-Lyrics-Gurnazar-Jaani-B-Praak

Song TitlePinjra
SingerGurnazar
LyricsJaani
MusicB Praak
DirectorDilsher Singh, Khushpal Singh
Music LabelSpeed Records

 

पिंजरे Pinjra Hindi Lyrics


मैनू पिंजरे दे विच कैद करो
मैं ना उड़ना चावां

ऐसा मैं परिंदा हाँ
जिन्हू मार दें हवां

मैनू पिंजरे दे विच कैद करो
मैं ना उड़ना चावां

ऐसा मैं परिंदा हाँ
जिन्हू मार दें हवां

जे मैं निकला बाहर मैनू
दिसना मेरा यार
जे मैं निकला

जे मैं निकला बाहर मैनू
दिसना मेरा यार

कदे नी मिलना जिहने
लख्खा तरले पावां

मैनू पिंजरे दे विच कैद करो
मैं ना उड़ना चावां

ऐसा मैं परिंदा हाँ
जिन्हू मार दें हवां

मैनू धूप्पन दे विच सारो रज के
धूप्पन दे विच सारो

मैनू धूप्पन दे विच सारो
मैनू खवां एह छावां

मैनू समझ के मिट्टी
पैरां दे विच हर दिन रोल्ले हो

मैनू काफिर कमला आशिक
मैनू की की बोले हो

मैनू समझ के मिट्टी
पैरां दे विच हर दिन रोल्ले हो

मैनू काफिर कमला आशिक
मैनू की की बोले हो

मैनू यार भुला दे रब्बा
मैनू कूझ ना याद रहे
यार भुला दे

मैनू यार भुला दे रब्बा
मैनू कूझ ना याद रहे

ते भूल जवां हए मैनू
ओहदे घर दीयां राहवां

मैनू पिंजरे दे विच कैद करो
मैं ना उड़ना चावां

ऐसा मैं परिंदा हाँ
जिन्हू मार दें हवां

मैनू धूप्पन दे विच सारो रज के
धूप्पन दे विच सारो

मैनू धूप्पन दे विच सारो
मैनू खवां एह छावां

राह तां सारे बंद यार तक इक
राह लभ लैना

मैं खुद ही पट के कबर मेरी
खुद नू ही दब लैना

राह तां सारे बंद यार तक इक
राह लभ लैना

मैं खुद ही पट के कबर मेरी
खुद नू ही दब लैना

ओह्नु सदियों ना कोई जाड जनाजा
निकलू जानी दा

कित्ते मरेया नू ना मार दे
ओहदा परछावां

एह किस्मत मेरी सी
मैं ज़िन्दगी ही इंझ लगौनी सी

एह किस्मत मेरी सी
मैं ज़िन्दगी ही इंझ लगौनी सी

जे तू छड के ना जांदी
मैनू अकल किथो आनी सी

रोनी सी, रोनी सी
मेरी अख ना ऐदां रोनी सी

जे तू छड के ना जांदी
मैनू अकल किथो आनी सी
मैनू अकल किथो आनी सी


More Hindi Lyrics:

  

Post a Comment

Previous Post Next Post